न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सर्जिकल स्ट्राइक फिर सुर्खियों में, मोदी पर राहुल का प्रहार, पॉलिटिकल माइलेज के लिए सर्जिकल स्ट्राइक…

उड़ी कैंप पर हमले के बाद भारतीय सेना द्वारा पाकिस़्तान में की गयी सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से देश में राजनीतिक दलों के बीच घमासान मचा हुआ है

24

 NewDelhi : राहुल गांधी ने फिर एक बार लेकर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है. बता दें कि उड़ी कैंप पर हमले के बाद भारतीय सेना द्वारा पाकिस़्तान में की गयी सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से देश में राजनीतिक दलों के बीच घमासान मचा हुआ है. सर्जिकल स्ट्राइक पर सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख रहे लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डीएस हुड्डा का बयान सामने आने के बाद फिर से सर्जिकल स्ट्राइक सुर्खियों में है.  डीएस हुड्डा का सर्जिकल स्ट्राइक पर बयान कि  कुछ ज्यादा ही प्रचार किया गया,  कांग्रेस अध्यक्ष मोदी सरकार पर हमलावर हो गये. राहुल ने इसपर ट्वीट करते हुए पीएम मोदी को निशाने पर लिया है. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, जनरल हुड्डा आप एक सच्चे सैनिक की तरह बोल रहे हैं. भारत को आप पर गर्व है. निश्चित तौर पर मिस्टर 36 को हमारी सेना को निजी संपत्ति के रूप में इस्तेमाल करने में कोई शर्म नहीं है. राहुल ने मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने पॉलिटिकल माइलेज के लिए सर्जिकल स्ट्राइक और अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का फायदा पहुंचाने के लिए राफेल डील का इस्तेमाल किया. यहां राहुल गांधी ने मिस्टर 36 कह कर पीएम मोदी का  मजाक उड़ाया.

इस हमले का इतना प्रचार की जरूरत नहीं थी

बता दें कि राहुल गांधी अक्सर 56 इंच के सीने वाले बयान पर तंज कसते हुए पीएम मोदी को मिस्टर 56 कहते रहते हैं.  राहुल के बयान के आधार पर जायें तो यह सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल बाद तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डीएस हुडा का बयान था कि इस हमले का इतना प्रचार की जरूरत नहीं थी. हुड्डा का कहना था कि मुझे लगता है कि इसका कुछ ज्‍यादा ही प्रचार किया गया. सेना का ऑपरेशन महत्‍वपूर्ण था और हमें ऐसा करना ही था. पर इसका कितना राजनीतिकरण होना चाहिए था, यह कितना सही है या गलत यह बात राजनेताओं से पूछी जानी चाहिए.  इस क्रम में बता दें कि हुडा के इस बयान पर सेना चीफ जनरल बिपिन रावत ने भी प्रतिक्रया दी है.  कहा कि यह उनका व्यक्तिगत बयान है और इसपर प्रतिक्रिया नहीं दी जा सकती है. कहा,  हुडा इस ऑपरेशन को अंजाम देने वाले मुख्य व्यक्तियों में शामिल रहे हैं और मैं उनके शब्दों का आदर करता हूं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: