न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट ने योगेंद्र साव और निर्मला देवी को दी राहत, झारखंड हाईकोर्ट में प्राथमिकता के आधार पर सुनवाई करने का दिया निर्देश

राज्यसभा चुनाव 2016 मामले में दिया फैसला

102

Ranchi: सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को योगेंद्र साव और विधायक निर्मला देवी की अर्जी पर सुनवाई करते हुए पार्थी को झारखंड हाईकोर्ट में अपनी बातें रखने का निर्देश दिया. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि साव दंपत्ति अपनी पैरवी के लिए झारखंड हाईकोर्ट का रूख करें. सीनियर एडवोकेट कपिल सिब्बल ने योगेंद्र साव और उनकी पत्नी के मामले पर झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई का मौका दिये जाने की बातें कहीं. हाईकोर्ट में अपना पक्ष रखने का आदेश दिया है. राज्यसभा चुनाव 2016 में मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार अजय कुमार और एडीजी अनुराग गुप्ता की ओर से श्री साव की पत्नी सह विधायक निर्मला देवी को भाजपा समर्थित उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करने को प्रेरित कर रहे थे. सुप्रीम कोर्ट ने मामले पर प्राथमिकता के आधार पर सुनवाई करने का आदेश दिया. अधिवक्ता वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का हम स्वागत करते हैं और जल्द ही इस संबंध में हाईकोर्ट जायेंगे और अपना पक्ष प्रस्तुत करेंगे. उन्होने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने केस और अभियुक्तों पर सुनवाई हाईकोर्ट में शुरू करने को कहा है.

इसे भी पढ़ेंः45 प्रमोटी IAS मेन स्ट्रीम से बाहर, सिर्फ दो को ही मिली है जिले की कमान, गैर सेवा से आईएएस बने दो अफसर हैं डीसी

झाविमो सुप्रीमो उठा चुके हैं मामला

झाविमो के प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने राज्यसभा चुनाव 2016 में भाजपा के उम्मीदवारों की जीत के लिए हुई खरीद-फरोख्त की सीडी भी जारी की थी. उन्होंने मामले पर हो रही सियासत को भी गलत ठहराया था. इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी मुख्तार अब्बास नकवी और महेश पोद्दार की जीत हुई थी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: