न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम ने पांच हाई कोर्टों के चीफ जस्टिस की नियुक्ति की सिफारिश की

सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम ने केंद्र सरकार से न्यायमूर्ति एनएच पाटिल को बंबई उच्च न्यायालय और न्यायमूर्ति डीके गुप्ता को कलकत्ता उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की है

124

 NewDelhi :  सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम ने केंद्र सरकार से न्यायमूर्ति एनएच पाटिल को बंबई उच्च न्यायालय और न्यायमूर्ति डीके गुप्ता को कलकत्ता उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की है.  सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाले कोलेजियम ने न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन को उत्तराखंड उच्च न्यायालय, न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना को गोहाटी उच्च न्यायालय और न्यायमूर्ति विजय कुमार बिष्ट को सिक्किम उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त करने की भी सिफारिश की है. न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ की सदस्यता वाले कोलेजियम ने अपने प्रस्तावों में लिखा है कि न्यायमूर्ति पाटिल अभी बंबई उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश हैं और न्यायमूर्ति गुप्ता कलकत्ता उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश हैं.

सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट पर डाले गये अपने प्रस्ताव में कोलेजियम ने कहा, न्यायमूर्ति मंजुला चेल्लूर के मुख्य न्यायाधीश पद से सेवानिवृत होने के बाद बंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पद कुछ समय से खाली पड़ा है.  लिहाजा, इस पद पर नियुक्ति किए जाने की जरूरत है.

 

इसे भी पढ़ेंः  ममता को राहत, दुर्गा पूजा समितियों को दस-दस हजार देने पर सुप्रीम कोर्ट का रोक से इनकार  

hosp1

कोलेजियम ने एमओपी के प्रावधान पर अमल किया है

कोलेजियम ने कहा, यह स्पष्ट किया जाता है कि उपरोक्त सिफारिश करते समय कोलेजियम को यह तथ्य पता है कि न्यायमूर्ति एनएच पाटिल बंबई उच्च न्यायालय से हैं और अप्रैल 2019 में उन्हें सेवानिवृत होना है.  इस सिलसिले में कोलेजियम ने प्रक्रिया ज्ञापन (एमओपी) के उस प्रावधान पर अमल किया है जिसमें किसी न्यायाधीश की सेवानिवृति में एक वर्ष या इससे कम समय शेष रहने पर उन्हें उन्हीं के उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश पद पर नियुक्त करने का प्रावधान है. न्यायमूर्ति रंगनाथन तेलंगाना एवं आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के वरिष्ठतम न्यायाधीश हैं और न्यायमूर्ति बिष्ट उत्तराखंड उच्च न्यायालय से वरिष्ठतम न्यायाधीश हैं और वहां अपनी तरक्की के बाद से सेवाएं दे रहे हैं. तीन सदस्यीय कोलेजियम ने मद्रास उच्च न्यायालय के तीन अतिरिक्त न्यायाधीशों न्यायमूर्ति आरएमटी टीका रमण, एन सतीश कुमार और एन शेषासयी को उसी अदालत में स्थायी न्यायाधीश के तौर पर नियुक्त करने की भी सिफारिश की है.

इसे भी पढ़ेंः 45 प्रमोटी IAS मेन स्ट्रीम से बाहर, सिर्फ दो को ही मिली है जिले की कमान, गैर सेवा से आईएएस बने दो अफसर हैं डीसी

 

तीन वकीलों को केरल उच्च न्यायालय में न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश

कोलेजियम ने कर्नाटक उच्च न्यायालय के सात अतिरिक्त न्यायाधीशों को उसी अदालत में स्थायी न्यायाधीश के तौर पर नियुक्त करने की सिफारिश की है.  इनमें न्यायमूर्ति के सोमशेखर, न्यायमूर्ति के सोमप्पा मुदगल, न्यायमूर्ति श्रीनिवास एच कुमार, न्यायमूर्ति जॉन माइकल कुन्हा, न्यायमूर्ति बासवराज ए पाटिल, न्यायमूर्ति एन क. सुधींद्रराव और न्यायमूर्ति डॉ एचबीपी. शास्त्री शामिल हैं.  तीन वकीलों वीजी अरुण, एन नागरेश और पीवी कुन्हीकृष्णन  को केरल उच्च न्यायालय में न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की गयी है. कोलेजियम ने दो न्यायिक अधिकारियों टीवी अनिलकुमार और एन अनिल कुमार को भी केरल उच्च न्यायालय में न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: