न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सुनंदा पुष्कर मौत मामला: कांग्रेस नेता शशि थरूर को मिली नियमित जमानत

17 जुलाई 2014 को हुई थी सुनंदा पुष्कर की मौत

447

NewDelhi:  दिल्ली की एक अदालत ने कांग्रेस नेता शशि थरूर को उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में शनिवार को नियमित जमानत दे दी.  तिरूवनंतपुरम से सांसद को मामले में एक आरोपी के तौर पर समन किया गया था. थरूर शनिवार को अदालत के समक्ष पेश हुए और बताया कि मामले में एक सत्र अदालत ने पहले ही उन्हें पांच जुलाई को अग्रिम जमानत दे दी है. और बिना अनुमति लिए देश नहीं छोड़ने के निर्देश भी अदालत ने दिए.

इसे भी पढ़ेंः सुनंदा पुष्कर मौत मामले में शशि थरूर की अग्रिम जमानत मंजूर

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटिन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने इसके बाद एक लाख रूपये की जमानत राशि और इतनी ही रकम का मुचलका जमा कराने को कहा जैसा कि सत्र अदालत ने निर्देश दिया था. इसके बाद उन्होंने अंतरिम राहत को नियमित जमानत में बदल दिया. गौरतलब है कि गिरफ्तारी की आशंका को देखते हुए कांग्रेस नेता थरूर अग्रिम जमानत के लिये दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट गए थे. जहां से उन्हें पांच जुलाई को राहत मिली थी.

17जुलाई 2014 को हुई थी मौत

गौरतलब है कि सुनंदा 17 जुलाई 2014 को दिल्ली के एक आलीशान होटल के कमरे में मृत पाई गई थीं.
थरूर ने अपनी जमानत याचिका में कहा था कि मामले में आरोपपत्र दाखिल कर दिया गया है और एसआईटी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि जांच पूरी हो गयी है और हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जरूरत नहीं है.बता दें कि एम्स की विसरा रिपोर्ट के मुताबिक, सुनंदा की बॉडी में किसी तरह का जहरनहीं मिला था. पुलिस इस मामले में कांग्रेस नेता थरूर से भी लंबी पूछताछ कर चुकी है. मौत को संदिग्ध मानते हुए दिल्ली पुलिस ने 1 जनवरी, 2015 मेंहत्या (302) का मामला दर्ज किया था.

 

सुनंदा पुष्कर मौत मामला:-

शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर का निधन, होटेल में मिला शव

 

सुनंदा पुष्कर मौत मामले में विशेष टीम ने शुरू की जांच

 

सुनंदा पुष्कर मामला : अमर सिंह से दो घंटे पूछताछ

 

सुनंदा हत्याकांड : मेहर तरार से हो सकती है पूछताछ

 

सुनंदा के बेटे से भी होगी पूछताछ

सुनंदा मामले में थरूर से पूछताछ

थरूर से जल्द हो सकती है पूछताछ : दिल्ली पुलिस

थरूर से दोबारा की गई पूछताछ

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: