JharkhandLead NewsRanchi

हीरादह में डूबे सुमित के मां-पिता को सालभर बाद भी नहीं मिला मुआवजा, अब डीसी से लगायी गुहार

Ranchi. पिछले साल (2020) 15 नवंबर को गुमला के रायडीह में हीरादह नदी में डूबने से सुमित कुमार की मौत हो गयी थी. सालभर हो गये. उसके माता-पिता को अब तक मुआवजा राशि नहीं मिली है. अब भूषण कुमार गिरी और उनकी पत्नी कांती देवी ने मृतक बेटे के मुआवजा राशि का भुगतान के लिये गुमला डीसी को चिट्ठी लिखकर गुहार लगायी है.

मुआवजा संबंधी सरकारी प्रावधान (गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग, झारखण्ड सरकार का पत्रांक- 135(अनु0), दिनांक 01-03-2021 एवं सरकार का रुलिंग संकल्प संख्या – 1089/आo प्रo , दिनांक 10-12-2018) की प्रति लगाते हुए कहा है कि उनके पुत्र सुमित कुमार गिरी की पिछले साल हीरादह में डूबने से मौत हो गयी थी. उसका शव तक नहीं मिल पाया. बावजूद इसके सरकारी प्रावधान के मुताबिक मुआवजा राशि का भुगतान करने का प्रावधान है पर अब तक इसका लाभ उन्हें नहीं मिला है.

इसे भी पढ़ें : बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर सीमावर्ती क्षेत्रों में झारखंड पुलिस ने बढ़ाई सतर्कता

advt

अब तक नहीं मिला डेथ सर्टिफिकेट

भूषण कुमार के मुताबिक 15 नवंबर, 2020 को रायडीह के हीरादह में उनका पुत्र सुमित कुमार गिरी (28 वर्ष) समेत उसके अन्य दो साथी अभिषेक कुमार गुप्ता तथा सुनील कुमार भगत डूब गये थे. इसमें से केवल अभिषेक कुमार गुप्ता का ही शव बरामद हुआ. सुमित कुमार गिरी एवं सुनील कुमार भगत का शव का पता अब तक नहीं चल पाया है. एनडीआरएफ के गोताखोर की टीम ने दोनों को खोजने का बहुत खोजने का प्रयास किया. पर अब तक मृतक शरीर या उसका कोई नर कंकाल वगैरह भी बरामद नहीं हो सका. सुमित के मृत्यु प्रमाण पत्र एवं पारिवारिक सदस्यता प्रमाण पत्र बनाने के लिए भी स्थानीय प्रशासन के पास आवेदन किया गया है जो लम्बित है. ऐसी स्थिति में सरकारी प्रावधानों के आधार पर उन्हें मुआवजा राशि दी जाय. एजुकेशन लोन की रिकवरी के लिए बैंक कर रहा परेशान

सुमित कुमार गिरी ने अपने बी-टेक की पढ़ाई करने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा से लाखों रुपए का लोन लिया था. अब उसकी मौत के बाद के बाद बैंक द्वारा लोन रिकवरी के लिए उसके परिजनों को परेशान किया जा रहा है. बैंक मैनेजर के मुताबिक बैंक के हेड ऑफिस को सारी जानकारी दे दी गयी है पर मृत्यु प्रमाण पत्र के साथ शेष बकाया राशि का भुगतान किये जाने का दबाब उसके अभिभावकों पर लगातार डाला जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :सोनारी के वैष्णवी ज्वेलर्स में छत का एसबेस्टस काटकर चोरी, पुलिस जांच में जुटी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: