Jamshedpur

मनसा पूजा में परिवार के साथ गांव जाने की थी सुजीत की इच्छा, उसके पहले ही बेरहमी से कर दी गई हत्या

Jamshedpur : मानगो कुमरुम बस्ती से 8 सितंबर से लापता 10 वर्षीय सुजीत ने अपनी मां से मनसा पूजा में परिवार के साथ नीमडीह के चालियामा से सटे अपने फागंगा गांव जाने की इच्छा जतायी थी, लेकिन उसकी यह इच्छा जबतक पूरी होती उसकी पत्थर से कुचकर बेरहमी से हत्या कर दी गई. उसका शव शनिवार को कुमरुम बस्ती के पीछे करीब डेढ़ किलोमीटर उंचे पहाड़ पर बरामद किया गया. इस घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है.

Advt

घटना के बाद उठने लगे हैं सवाल

स्थानीय लोग यह सवाल उठा रहे हैं कि आखिर एक मासूम बच्चे से किसकी इस कदर दुश्मनी हो सकती है. उसकी इस तरह बेरहमी से हत्या कर दी गई. उसके सिर पर चोट के गंभीर निशान पाए गए हैं. साथ ही शरीर पर कई जगहों पर खरोच के निशान हैं. पुलिस को शव के पास पत्थर भी मिला है. हालांकि उस पर खून के निशान नहीं हैं. संभावना यह भी जतायी जा रही है कि बारिश से पत्थर पर लगे खून के निशान मिट गए होंगे. पुलिस ने पत्थर को जब्त कर लिया है. साथ ही मामले की आगे की कार्रवाई में पुलिस जुटी है. इस मामले में डीएसपी वीरेन्द्र राम का भी कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला हत्या का ही लग रहा है. आगे पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है. पुलिस को इस मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार है.

पिता ने कहा पड़ोसी से हुआ था विवाद

दूसरी ओर मृतक के पिता धरनी गोराई ने भी बेटे की हत्या करने की बात कही है. घटना की पुलिस जांच में करीब छह महीने पानी भरने को लेकर धरनी गोराई का पड़ोसी के साथ विवाद होने की बात भी सामने आई है. हालांकि अब धरनी गोराई परिवार के साथ दूसरे घर में भाड़े पर रहते हैं. पुलिस इस बिदुं पर भी जांच कर रही है.

घटना के दिन बच्चों के साथ खेलने गया था

घटना के दिन ही सुजीत बस्ती के विक्रम और आशीष नामक बच्चों के साथ खेलने गया था. पुलिस घटना को लेकर उनसे भी पूछताछ करेगी. उसके बाद ही सुजीत की हत्या के मामले में पुलिस के किसी ठोस नतीजे पर पहुंचने की उम्मीद जतायी जा रही है.

Advt

Related Articles

Back to top button