Crime NewsMain Slider

जमशेदपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सुजीत सिन्हा ने रची थी बिल्डर अभय सिंह पर फायरिंग की साजिश

Ranchi : जमशेदपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सुजीत सिन्हा ने बिल्डर अभय सिंह पर फायरिंग की साजिश रची थी. रांची एसएसपी सुरेंद्र झा के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने कार्रवाई करते हुए घटना में शामिल चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार हुए अपराधियों में रवि रंजन पांडेय, फिरोज अंसारी, अमित उरांव और कुलदीप गोप शामिल हैं. पुलिस ने गिरफ्तार हुए अपराधियों के पास से एक देसी कार्बाइन, एक ग्रेनेड, 28 पीस कारतूस, 4 मोबाइल, दो बाइक समेत अन्य सामान शामिल बरामद किये हैं.

इसे भी पढ़ें – Corona Effect: 50 फीसदी गिरा रियल एस्टेट कारोबार, बिल्डिंग मटेरियल के दाम बढ़े

सुजीत सिन्हा ने रची थी फायरिंग की साजिश

पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि जमशेदपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे सुजीत सिन्हा ने बिल्डर अभय सिंह पर रंगदारी मांगने और फायरिंग की साजिश रची थी. इस मामले में शामिल अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए रांची पुलिस की टीम लगातार छापेमारी कर रही है. गौरतलब है कि 15 अगस्त के दिन बाइक सवार दो अपराधियों ने वन वृंदावन कंस्ट्रक्शन के मालिक अभय सिंह के मोरहाबादी स्थित ऑफिस में फायरिंग की थी. इस गोलीबारी में ऑफिस में तैनात गार्ड बाल-बाल बच गया और गोली दीवार में जा लगी थी.

सुजीत सिन्हा गिरोह का सदस्य मयंक सिंह बता कर मांगी 2 करोड़ की रंगदारी

जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के नाम पर रांची के बिल्डर अभय सिंह से रंगदारी मांगी गयी थी. रंगदारी मांगे जाने की शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गयी थी. मालूम हो कि वन वृन्दावन कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक अभय सिंह से 6 अगस्त और 7 अगस्त को सुजीत सिन्हा के नाम पर 2 करोड़ की रंगदारी मांगी गयी थी. जिसने लेवी मांगी है उसने खुद को गैंगस्टर सुजीत सिन्हा गिरोह का सदस्य मयंक सिंह बताया था. गौरतलब है कि कारोबारी को व्हाट्सएप पर मैसेज भेज कर उनसे रुपये की मांग की गयी थी.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में 3077 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित, 1925 हुए स्वस्थ्य हुए

जान से मारने की दी थी धमकी

बिल्डर अभय सिंह से व्हाट्सएप पर भेजे मैसेज में पैसे नहीं देने पर पथ निर्माण विभाग के इंजीनियर समरेंद्र सिंह की तरह गोली मारने की धमकी भी दी गयी थी. जानकारी के अनुसार इंजीनियर समरेंद्र सिंह के घर पर कुछ साल पहले सुजीत सिन्हा ने लवकुश शर्मा के जरिए फायरिंग करायी थी. बाद में दो करोड़ की रंगदारी नहीं देने पर समरेंद्र को मोरहाबादी में गोली मार दी गयी थी. 6 अगस्त की दोपहर बिल्डर को भेजे गये धमकी भरे मैसेज में अपराधी ने लिखा था कि ‘नमस्कार अभय जी, बॉस का मैसेज है आपके लिए. आपको दो करोड़ देना है’, देकर धंधा किजिए कोई दिक्कत नहीं होगी हम लोगों की ओर से. समरेंद्र सिंह वाली गलती मत कीजिएगा. भैया, आपका जो मैसेज है बता दीजिए बॉस के पास पहुंचा देंगे, फिर ऊपर से जैसा मैसेज आयेगा आपको बता दूंगा. फिर उसके अगले दिन 7 अगस्त को भी अपराधियों ने फिर से धमकी भरा मैसेज अभय सिंह को भेजा था. भेजे गये मैसेज में कथित मयंक सिंह ने लिखा कि ‘घटना और दुर्घटना अचानक घटती है भैया’ अगर आपको लगता है कि आप हमलोगों को इग्नोर करके काम कर लेंगे तो बेस्ट ऑफ लक, गोली बम चलाना तो हमारा पेशा है, जब चाहेंगे चल जायेगा, लेकिन जब चलेगी तो आपको कोई मौका नहीं मिलेगा. उस समय आपकी पूरी पॉपर्टी भी आपको नहीं बचा पायेगी, सब धरा का धरा रह जायेगा, भाई बना कर रखेंगे तो फायदे में रहेंगे. वहीं धमकी मिलने के बाद अभय कुमार सिंह ने रांची के बरियातू थाने में मामला दर्ज कराया था.

जेल के अंदर से गैंग चला रहा है सुजीत सिन्हा

जमशेदपुर घाघीडीह सेंट्रल जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा जेल के अंदर से ही गैंग चला रहा है. जेल से वह अपने गुर्गों संग रांची, हजारीबाग, रामगढ़ और पलामू के ठेकेदारों और कारोबारियों से रंगदारी मांग रहा है. रंगदारी नहीं देने पर हत्या करने तक की धमकी दे रहा है.

इसे भी पढ़ें – धनबाद: नहीं थम रहा अवैध कोयले का कारोबार, दिन-दहाड़े हो रही ढुलाई

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: