Crime NewsJharkhand

झारखंड के अन्य आपराधिक गैंग की तुलना में सुजीत सिन्हा गैंग का बढ़ा उत्पात

Saurav Singh

Jharkhand Rai

Ranchi :  झारखंड अन्य आपराधिक गैंग कि तुलना में सुजीत सिन्हा गैंग का उत्पात बढ़ा है. राज्य में अमन श्रीवास्तव, किशोर पाण्डेय, अनिल शर्मा, चन्दन सोनार, सहित कई बड़े आपराधिक गैंग सक्रिय है. लेकिन हाल के समय में सुजीत सिन्हा गैंग पुलिस के हिए सिरदर्द बन गया है. गैंग के उत्पात से व्यावसायी वर्ग भी आतंकित है. जमशेदपुर जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे गैंगस्टर सुजीत सिन्हा का गैंग झारखंड पुलिस को बड़ी चुनौती दे रहा है. पुलिस ने सुजीत सिन्हा गैंग के कई छोटे बड़े अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा इसके बाद भी सुजीत सिन्हा के गैंग के द्वारा राज्य के कोयला कारोबारी, बिल्डर, व्यवसायी से लेवी मांगने का काम किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :फिकस्ड चार्जेस पर जल्द निर्णय की घोषणा करेगी नियामक आयोग, घरेलू उपभोक्ताओं को मिल सकती है राहत

जमशेदपुर के जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है सुजीत सिन्हा 

 

Samford

सुजीत सिन्हा उम्रकैद की सजा काट रहा है. उसके गैंग पर भी झारखंड पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पिछले दो महीने में राज्य के अलग-अलग जिलों की पुलिस ने सुजीत सिन्हा गैंग के अमन साव, बसंत गंझू सहित 16 से अधिक अपराधियों को गिरफ्तार किया है. सुजीत सिन्हा गैंग को उस समय बड़ा झटका लगा जब रांची पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कुख्यात अपराधी अमन साव को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद भी सुजीत सिन्हा लगातार लेवी मांग रहा है.

कारोबारियों से मांगी जा रही रंगदारी

जेल में बंद सुजीत सिन्हा के गैंग इशारे पर उसके गिरोह के सदस्य राज्य के कोयला कारोबारी, व्यावसायी और बिल्डर से लेवी की मांग कर रहे है. लेवी नहीं देने पर हत्या की और आतंकित करने की साजिश रच रहे है. गौरतलब है कि राजधानी रांची और कोयलांचल के कारोबारी गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के निशाने पर हैं. इस बात का खुलासा सुजीत सिन्हा ने पुलिस के सामने पूछताछ में किया था. रांची पुलिस ने उसे बीते 11 सितंबर को 4 दिनों के लिए रिमांड पर लिया था. जमशेदपुर के घाघीडीह सेंट्रल जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा जेल के अंदर से ही गैंग चला रहा है. जेल बैठे-बैठे वह अपने गुर्गो संग रांची, हजारीबाग, रामगढ़ और पलामू के ठेकेदारों और कारोबारियों से रंगदारी मांग रहा है. रंगदारी नहीं देने पर हत्या करने तक की धमकी दे रहा है.

सुजीत सिन्हा के खिलाफ आर्म्स एक्ट, रंगदारी और हत्या सहित 51 केस दर्ज हैं. उसके गिरोह में कई अपराधी शामिल हैं. गिरोह के कुछ अपराधी वर्तमान में फरार हैं और कुछ सक्रिय हैं. इसके अलावा कुछ अपराधी जमानत पर हैं. जिसके जरिये सुजीत जेल के अंदर से ही गिरोह का संचालन कर रहा है.

इसे भी पढ़ें :रांची के तमाड़ में नक्सलियों ने की पोस्टरबाजी, पुलिस ने भी बढ़ायी सतर्कता

 सुशील श्रीवास्तव का खास शूटर था सुजीत सिन्हा

हजारीबाग कोर्ट में मारे गये गैंगेस्टर सुशील श्रीवास्तव के खास शूटरों में सुजीत सिन्हा की गिनती होती थी. सुजीत सिन्हा ने सुशील की मौत का बदला लेने के लिए भोला पांडेय गिरोह के सरगना विकास तिवारी की हत्या की साजिश भी रची थी. सुजीत सिन्हा ने ही अपराधी लवकुश शर्मा के जरिए इंजीनियर समरेंद्र प्रताप सिंह को मारने की साजिश रची थी. रांची पुलिस ने इस मामले में सुजीत को गिरफ्तार किया था. पलामू, रांची समेत अन्य जिलों में उसके खिलाफ दर्जनों आपराधिक कांड दर्ज हैं.

 

 सुजीत सिन्हा गैंग के खिलाफ मामलें :

22 अगस्त 2019 : रांची में भाजपा नेता सह बिल्डर रमेश सिंह और व्यवसायी अविनाश झा की हत्या की योजना जमशेदपुर जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने बनायी थी. अविनाश की हत्या 21 अगस्त 2019 की सुबह नौ बजे जिम जाने के दौरान की जानी थी, लेकिन सीआइडी और पुलिस की सक्रियता के कारण अपराधियों की योजना विफल हो गयी थी.

 

2 फरवरी 2020: सुजीत सिन्हा और अमन साहू के इशारे पर लातेहार जिले के चंदवा थाना क्षेत्र अंतर्गत टोरी रेलवे साइडिंग में 9 अपराधियों जम कर उत्पात मचाया था. साइडिंग परिसर में खड़े 2 वाहनों को फूंक दिया. साथ ही 4 वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया. मौके पर मौजूद 5 लोगों की पिटाई की गयी थी.

 

12 जुलाई 2020 : गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के इशारे पर अमन साव ने रांची के चार कोयला कारोबारियों से एक करोड़ रुपए रंगदारी मांगी थी. कारोबारियों ने रकम देने से इन्कार कर दिया था. इसके बाद अमन साव ने चारों कारोबारियों की हत्या की योजना बनाई. इसके लिए पांच अपराधियों को कारोबारियों की हत्या के लिए रांची भेजा था. लेकिन पुलिस से सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

 

6 अगस्त 2020: बिल्डर अभय कुमार सिंह ( दिवंगत) को कॉल कर दो करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी. रंगदारी मांगने वाले ने वर्चुअल नंबर से मैसेज किया था. इसमें खुद को कुख्यात गैंगस्टर सुजीत सिन्हा गैंग का मयंक सिंह बताया था. इसके नौ दिन बाद अभय सिंह के ऑफ़िस में अपराधियों ने फायरिंग की थी. इस मामले में पुलिस ने एक पीएलएफआई उग्रवादी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था .

 

18 सितंबर 2020: झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार के भाई से गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के नाम पर रंगदारी मांगी मांगने का मामला सामने आया है. अधिवक्ता राजीव कुमार के भाई अनीश कुमार से मयंक सिंह नामक अपराधी के द्वारा एक करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी गई है.

इसे भी पढ़ें :Corona Update : देश में एक दिन में 93,337 मामले सामने आये, संक्रमितों की संख्या 53,08,014 हुई, कुल मौतें 85,619

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: