Crime NewsJamshedpurJharkhand

Jamshedpur : जमशेदपुर में फिर से बढ़ने लगे आत्महत्या के मामले, नाबालिग समेत तीन ने लगा लिया मौत को गले

Jamshedpur : जमशेदपुर में एक बार फिर आत्महत्या के मामले बढ़ गए है. शनिवार को एक साथ तीन ने मौत को गले लगा लिया जिसमे एक नाबालिग समेत महिला और अधेड़ शामिल है. पहली घटना उलीडीह थाना क्षेत्र की है जहां शंकोसाई रोड नंबर 5 मुंडा कॉलोनी निवासी 11 वर्षीय नाबालिग अंशु कुमार ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. अंशु संत एंथोनी स्कूल के कक्षा सातवीं का छात्र था. पिता हरदेव मंडल ट्रक चालक है और फिलहाल उत्तराखंड में है. परिजनों को घटना की जानकारी शुक्रवार शाम तब हुई जब वे उसके कमरे में गए. अंशु ने कमरे का दरवाजा बंद किया हुआ था. किसी तरह दरवाजे को तोड़कर अंशु को फंदे से उतारा गया और इलाज के लिए तत्काल टीएमएच पहुंचाया गया जहां जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया गया. बताया जा रहा है कि शुक्रवार को अंशु का अपने भाई के साथ झगड़ा हुआ था जिस कारण उसने ये कदम उठा लिया.

मायके से 50 मीटर की दूरी पर पेड़ से लटका मिला महिला का शव
दूसरी घटना परसुडीह थाना क्षेत्र की है जहां 21 वर्षीय चांदनी पूर्ति का शव मायके से 50 मीटर की दूरी पर पेड़ से लटका पाया गया. शनिवार तड़के स्थानीय लोगों ने उसका शव देखा और परिजनों को इसकी सूचना दी. चांदनी ने अपनी ही साड़ी से फांसी लगा ली. पति धानो पूर्ति टाटा पावर में ठेका कर्मी है. वह हलुदबनी के नीमटोला का रहने वाला है. धानो ने बताया कि डेढ़ साल पहले उसने चांदनी से प्रेम विवाह किया था. पांच दिन पहले चांदनी बिना बताए जकसंडीह चली गई थी. आज सुबह ससुराल वालों ने घटना की सूचना दी. धानो ने बताया कि शुक्रवार शाम को वह ससुराल वापस आने की बात कहकर निकली थी पर सुबह उसका शव पेड़ से लटका मिला.

 

Catalyst IAS
ram janam hospital

नौकरी नहीं रहने से परेशान अधेड़ ने लगाई फांसी

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

परसुडीह के ही खासमहल एसपी कॉलेज रोड निवासी 56 वर्षीय अनूप कुमार मंडल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उनका शव कमरे में लटका पाया गया. परिजनों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी. सूचना पाकर पुलिस घटनास्थल पहुंची और कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को फंदे से उतारा. अनूप के भाई उत्तम मंडल ने बताया कि अनूप कोई काम नही करता था जिस कारण वह डिप्रेशन में था. डिप्रेशन में ही उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

ये भी पढ़े : लद्दाख में हुए सड़क हादसे में झारखंड का लाल शहीद

 

Related Articles

Back to top button