ChaibasaJamshedpurJharkhandSaraikela

खुदकुशी, हादसा या हत्या? आखिर रविवार की शाम के धुंधलके में अदिति और सावन के साथ क्या हुआ था

चक्रधरपुर : अदिति के दोस्त सावन का शव भी संजय नदी से बरामद, रविवार की शाम से हो रही थी तलाश, सोमवार की दोपहर अदिति की लाश मिली थी

Chakradharpur : चक्रधरपुर में  16 साल की स्कूली छात्रा का शव अदिति साधु का शव संजय नदी से मिलने के बाद उसके दोस्त आकाश कुमार तियू (17) की भी लाश मिलने से सनसनी फैल गयी है. अदिति की लाश मिलने के बाद से ही सावन की खोज चल रही थी. 18 घंटे बाद संजय नदी के चंद्री घाट पर सावन का शव मिलने के बाद अब लोगों के मन में यह सवाल है क्या अदिति और सावन ने आत्महत्या की है या उनके साथ कोई हादसा हुआ है. चक्रधरपुर के रहनेवाले अदिति  और सावन कुमार तियू मधुसूदन हाई स्कूल में पढ़ते थे. दोनों एक साथ ही कोचिंग भी जाया करते थे.16 और 17 साल के इन बच्चों में गहरी दोस्ती थी. यह कच्ची उमर का प्यार था, जिसके जुनून में दोनों ने यह भयानक कदम उठा लिया या रविवार की शाम के झुटपुटे में उनके साथ संजय नदी के किनारे कोई हादसा हुआ. क्या अदिति और सावन ने आत्महत्या की, या उनकी हत्या हुई या  एक-दूसरे को बचाने में दोनों नदी में डूब गये, ये कुछ ऐसे सवाल हैं, जो लोग एक दूसरे से पूछ रहे हैं. पुलिस को इन सभी सवालों के जवाब ढूंढ़ने हैं.

नदी में सावन का शव.

गौरतलब है कि रविवार की शाम अदिति और सावन को एक स्कूटी से संजय नदी के किनारे जाते देखा गया था. वहां वे काफी देर तक बैठे रहे थे. रात को जब दोनों घर नहीं लौटे तो उनकी खोजबीन शुरू की गयी. आकाश के भाई को नदी किनारे स्कूटी मिली थी, जिसे घर ले आया गया, लेकिन अदिति और सावन का कोई पता नहीं चला. सोमवार की सुबह बोडदा घाट पर नहाने गये लोगों को एक लड़की की लाश पानी में दिखी. उसने काले रंग का टॉप और जींस पहन रखी थी. वह अदिति की लाश थी. लेकिन सावन का कोई पता नहीं चला. अदिति के पिता जीतेन कुमार ने बेटी का शव मिलने के बाद आरोप लगाया था कि सावन ने ही उनकी बेटी की हत्या की है. लेकिन लोगों को संदेह था कि सावन के साथ भी कोई अनहोनी हुई है. इसलिए नदी में तलाश जारी थी. मंगलवार की सुबह सावन कुमार तियू का शव भी चंद्री घाट से बरामद हुआ. यह घाट चंद्री गांव से सटा है. मंगलवार की सुबह नदी की ओर गये ग्रामीणों ने  सावन के शव को नदी में में उतराया देखा और पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर पुलिस सावन के पिता को लेकर घटनास्थल पर पहुंची. पिता ने बेटे के शव की पहचान की.

advt

इसे भी पढ़ें – गढ़वा : हर्निया के ऑपरेशन के लिए बेहोश किए गए बच्चे की मौत, परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा

सावन के पिता नारायण सिंह रेलवे में चालक हैं. उनका आवास चक्रधरपुर रेलवे एरिया की ड्राइवर कॉलोनी में है. अदिति का परिवार  वार्ड नंबर एक में भालियाकुदर कॉलोनी में रहता है. उसके पिता जीतेन कुमार पहले केपीएस स्कूल चक्रधरपुर में सहायक शिक्षक थे. जीतेन की पत्नी धनबाद में ही नौकरी करती हैं. दो दिनों पूर्व ही उन्होंने दुर्गापूजा को लेकर बेटी को कपड़े खरीदकर दिए थे. फिलहाल पुलिस सावन के शव का पोस्टमार्टम कराने की तैयारी कर रही है. दोनों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद कुछ जानकारी मिलने की उम्मीद है. कुछ बातें पुलिस की जांच और लोगों से पूछताछ में साफ होंगी.

इसे भी पढ़ें – चक्रधरपुर से लापता अदिति का शव संजय नदी से बरामद, दोस्त सावन का पता नहीं

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: