JharkhandRanchi

छत्तीसगढ़, ओडिशा और पश्चिम बंगाल से ज्यादा महंगी है झारखंड के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ाई

Ranchi : JEE मेन परीक्षा की प्रक्रिया पूरी होते ही राज्यों के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन शुरू हो जायेगा. झारखंड में भी JEE मेन परीक्षा के स्कोर के आधार पर एडमिशन लिया जाता है. वैसे तो राज्य में 17 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं. लेकिन यहां से पढ़ाई करना छत्तीसगढ़, ओडिशा और पश्चिम बंगाल से महंगा है. जबकि इसी झारखंड से हजारों की संख्या में स्टूडेंट्स हर साल पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने जाते हैं.

12 हजार करोड़ रुपये का शिक्षा पर सालाना खर्च करने वाले इस राज्य में तकनीकी शिक्षा की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां से स्टूडेंट्स दूसरे राज्य पढ़ाई करने जाते हैं और झारखंड के इंजीनियरिंग कॉलेजों में सीट खाली रह जाती है. सत्र 2020 में सरकारी, पीपीपी मोड में संचालित कॉलेज के अलावा निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में 40 फीसदी सीटें खाली रह गयी.

 

advt

राज्यों में सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज की संख्या

जानकारी के मुताबिक बिहार में राज्य सरकार की ओर से संचालित इंजीनियरिंग कॉलेजों की संख्या 38 है. छत्तीसगढ़ में 14, उत्तराखंड में नौ, ओड़िशा में 17 सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज हैं. झारखंड में वर्तमान में कुल 17 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं. इनमें से 16 इंजीनियरिंग कॉलेज प्राइवेट या पीपीपी मोड पर चल रहे हैं. जबकि एकमात्र सरकारी कॉलेज बीआईटी सिंदरी है. कोडरमा, पलामू, गोला और जमशेदपुर में बने इंजीनियरिंग कॉलेज अब तक शुरू नहीं हो पाए हैं.

adv

 

सरकारी कॉलेजों की फीस

पश्चिम बंगाल के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक करना सबसे कम खर्चीला है. यहां के विभिन्न कॉलेजों की फीस चार साल के कोर्स का 9600 रुपये से 13 हजार रुपये है. यानी प्रति वर्ष लगभग 800 रुपये से लगभग दो हजार रुपये फीस लिए जाते हैं. वहीं झारखंड की बात करें तो एकमात्र सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज बीआइटी सिंदरी में बीटेक के चार वर्ष के कोर्स के लिए लगभग दो लाख 76 हजार रुपये लिये जाते हैं. ओडिशा में बीटेक के चार साल के कोर्स की फीस एक से डेढ़ लाख रुपये तक है. बिहार में भी 4.13 से 5.7 लाख रुपये शुल्क है. छत्तीसगढ़ में बीटेक के लिए प्रति वर्ष 60 हजार रुपये यानी चार वर्ष का कोर्स शुल्क 2.40 लाख रुपये है.

 

इसे भी पढ़ें : निशिकांत ने पूछा कुमार गौरव कहीं विधायक अनूप सिंह के भाई तो नहीं? यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष ने दिया जवाब

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: