ChaibasaJharkhand

Chakradharpur: जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय चक्रधरपुर में विद्यार्थियों का हंगामा, कुडूख भाषा की पढ़ाई बंद होने से नाराजगी

Chakradharpur: जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय चक्रधरपुर में कुडूख भाषा से स्नातक व स्नातकोतर में नामांकन नहीं होने से विद्यार्थी अपना भविष्य बनाने से वंचित हो रहे हैं. विद्यार्थियों की शिकायत पर मंगलवार को उरांव सरना समिति चक्रधरपुर के अध्यक्ष रंजीत तिर्की, सचिव रामदास उरांव, उपाध्यक्ष बबलू लकडा, पूर्व सचिव बुधराम लकड़ा, सदस्य किरण खलको के नेतृत्व में 56 विद्यार्थी कॉलेज पहुंचे. इस बीच विद्यार्थियों ने जमकर हंगामा किया. विद्यार्थियों ने कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य प्रोफेसर डॉ श्रीनिवास कुमार से कुडूख विषय में नामांकन का पोर्टल नहीं खुलने के संबंध में वार्ता की. नामांकन का पोर्टल नहीं खुलने के कारण सैकड़ों विद्यार्थी पढ़ाई से वंचित हो रहे हैं. उन्होंने लिखित आवेदन देकर जल्द से जल्द इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने की मांग की है.
उरांव सरना समिति की सदस्य किरण खलको ने कहा कि जेएलएन कॉलेज में पिछले कई वर्षों से कुडूख भाषा की पढ़ाई बंद हो गई है जिससे विद्यार्थी का भविष्य अंधकारमय होता नजर आ रहा है. विद्यार्थियों की परेशानी को देखते हुए कोल्हान यूनिवर्सिटी के कुलपति को भी आवेदन दिया गया है. लेकिन किसी प्रकार का हल नहीं निकला. आज कॉलेज में सैकड़ों विद्यार्थी कुडूख भाषा में नामांकन करना चाहते हैं, परंतु कोल्हन विश्वविद्यालय की अनदेखी के कारण पोर्टल नहीं खुल रहा है. पोर्टल नहीं खुलने के कारण विद्यार्थियों का नामांकन भी नहीं हो पा रहा है. इस मामले में कोल्हान यूनिवर्सिटी के पदाधिकारियों से पूछने पर बताते हैं कि कॉलेज द्वारा नामांकन का आदेश देने के बाद पोर्टल खोला जाएगा. जब कॉलेज के प्रिंसिपल से पूछा जाता है तो वह कहते हैं कि शिक्षक नहीं होने के कारण कुडूख भाषा में नामांकन नहीं हो रहा है.

भेजे गये थे शि‍क्षकों के ल‍िए नाम
उरांव सरना समिति ने पिछले साल कुडूख भाषा के पीएचडी एवं नेट पास किए शिक्षकों की बहाली के लिए रोशन खाखा, भुवनेश्वर उरांव, कृष्णा उरांव, किशोर उरांव व पंडरी कुमारी का नाम कॉलेज को भेजा गया था ताकि पांचों में से किसी एक का बहाली कर कुडूख भाषा की पढ़ाई आरंभ किया जाए. परंतु कॉलेज प्रशासन की उदासीनता के कारण शिक्षकों की बहाली नहीं हुई. विद्यार्थियों ने कहा कि समय रहते हुए अगर नामांकन नहीं हुआ तो कॉलेज में तालाबंदी भी की जाएगी जिसका जिम्मेदारी कोल्हान विश्वविद्यालय और जेएलएन कॉलेज प्रशासन होगी. इस मौके पर नकुल खलको, लक्ष्मी खलको, समेस खलको, प्रीति खलको, अमरनाथ खलको, अभिषेक कुजूर, भगवान दास कुजूर, अरविंद उरांव, सावन कुजूर, संगीता तिर्की समेत काफी संख्या में कुडूख भाषा के विद्यार्थी मौजूद थे.

ये भी पढ़ें- JAMSHEDPUR : बिष्टुपुर पुलिस ने चोरी की बाइक के साथ छह लोगों को किया गिरफ्तार, तीन बाइक और एक स्कूटी के अलावा बाइक के पुर्जे भी बरामद, फर्जी कागजात तैयार कर बेचते थे चोरी की बाइक

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button