JharkhandRanchi

एनएसएस से सिर्फ जुड़ें नहीं, समाज के प्रति दायित्व निभाने का संकल्प लें छात्र:  डॉ रमेश पांडेय

Ranchi: स्वच्छता एक विचारधारा है. खुद से शुरू कर लोगों को ये समाज में फैलाना चाहिए. महात्मा गांधी के जीवन को देखें तो उन्होंने स्वच्छता पर खुद पहल की. इसके बाद पूरे देश में इसका अलख जगाया.

उक्त बातें रांची यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ रमेश कुमार पांडे ने कहीं. वे रांची यूनिवर्सिटी में राष्ट्रीय सेवा योजना की ओर से आयेाजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के विचार एवं उनकी सोच की आज भी प्रासंगिक है. उनके विचारों का महत्व भूत काल में भी रहा है और भविष्य में भी रहेगा.

इसे भी पढ़ें – बड़कागांव #BDO और उसकी पत्नी पर नाबालिग से मारपीट के आरोप में #FIR, #DC ने बनायी जांच टीम

advt

मौके पर रांची यूनिवर्सिटी के स्वयंसेवकों को उन्होंने कहा कि समाज में स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए एनएसएस एक अच्छा प्लेटफॉर्म है.

गांव-गांव जाकर स्वच्छता और लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने की बात डॉ रमेश कुमार पांडेय ने की. सिर्फ एनएसएस से जुड़ना ही उद्देश्य न हो, बल्कि समाज के प्रति दायित्व निभाने का भी संकल्प लें.

एक हजार छात्रों ने लिया स्वच्छता ड्राइव में भाग

रांची यूनिवर्सिटी एनएसएस की ओर से इस दौरान स्वच्छता ड्राइव का आयोजन किया गया. जिसमें छात्रों ने मोरहाबादी के अलग-अलग जगहों से कचरा उठाया और निगम की गाड़ियों और कूड़ेदान में डाला.

इसे भी पढ़ें – #DoubleEngine की सरकार में बेबस छात्र- 1 : पांच सालों में सरकार नहीं करा पायी असिस्टेंट इंजीनियर की परीक्षा

वहीं फिट इंडिया के तहत जागरुकता रैली भी छात्रों ने निकाली. इसकी जानकारी देते हुए कार्यक्रम समन्वयक डॉ ब्रजेश कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई की ओर से सुबह छह बजे से कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

कार्यक्रम का आयेाजन कला संस्कृति युवा मामले एवं खेल विभाग की ओर से किया गया. डॉ ब्रजेश ने बताया कि इस दौरान रांची यूनिवर्सिटी के विभिन्न कैंपस में भी स्वच्छता ड्राइव का आयोजन किया गया.

इस कार्यक्रम में रसायन शास्त्र, वनस्पति शास्त्र, भौतिकी, जंतु विज्ञान, योग, मनोविज्ञान, भूगोल, हिंदी, इतिहास, अर्थशास्त्र विभाग की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, आरटीसी बीएड कॉलेज, उदय मेमोरियल बीएड कॉलेज, समर्पणदीप बीएड कॉलेज, एनएन घोष बीएड कॉलेज आदि के छात्र शामिल हुए.

ये थे उपस्थित

मौके पर डीएसडब्ल्यू डॉ पीके वर्मा, एमपीईएच के निदेशक प्रो अशोक कुमार सिंह, डॉ अरुण पाण्डेय, डॉ स्मृति सिंह, डॉ आरके झा, डॉ आनंद कुमार ठाकुर, डॉ सीमा केसरी, प्रो आनंद भगत, डॉ प्रिया पाण्डेय समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – बिजली उत्पादक कंपनियां बेहाल, वितरण कंपनियों पर बकाया पहुंचा 78,000 करोड़, #AdaniPower पर 3,794  करोड़ बकाया  

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: