Ranchi

चिन्मय मिशन के गीता गायन प्रतियोगिता में 12 स्कूलों के छात्रों ने दिखाया हुनर

Ranchi: चिन्मय मिशन, रांची द्वारा गीता गायन प्रतियोगिता का आयोजन आज किया गया. आज के नगर स्तर की प्रतियोगिता में 12 विभिन्न विद्यालयों के 140 छात्र-छात्राओं ने भाग लिया. इस अवसर पर चिन्मय मिशन के अध्यक्ष आरएस अग्रवाल ने सभी छात्रों को बधाई दी. जीवन में गीता के माध्यम से सफल होने की कामना भी की. नगर स्तरीय गीता गायन प्रतियोगिता के दूसरे स्तर की प्रतियोगिता का कार्यक्रम आज संपन्न हुआ. उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि राँची के उद्योगपति रामस्वरूप रुंगटा थे. उन्होंने बताया कि गीता सभी धर्मों का आधार है. गीता जीवन जीने की मार्गदर्शिका है. जीवन मे समत्व कैसे लाएं, ये सिखाती है. मौके पर ट्रस्ट सचिव श्री वी. के. गड्डयान, श्यामजी टोरका, अशोक अग्रवाल, प्रेम आर्य, राजीव रंजन प्रसाद, विजय सरायका, अशोक मंगल सहित अन्य भी भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: मन की बातः PM मोदी ने की झारखंड के लाइब्रेरी मैन संजय कश्यप की सराहना, कहा- विद्या दान समाज सबसे बड़ा काम

22 वर्षों से गीता गायन प्रतियोगिता

सभा के सचिव श्यामजी टोरका ने बताया कि इस वर्ष विगत जुलाई माह से ही यह प्रतियोगिता विभिन्न विद्यालयों में चल रही है. विगत 22 वर्षों की भांति इस वर्ष भी रांची के लगभग 50 स्कूलों के स्टूडेंट्स के बीच चिन्मय मिशन, रांची द्वारा गीता गायन प्रतियोगिता का आयोजन कराया जा चुका है. इसमें अब तक लगभग 17000 छात्रों ने अपना हुनर दिखाया है. पिछले 22 सालों से हर वर्ष आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता में लगभग 30 हजार छात्र इसमें भाग लेते आ रहे हैं. विगत दो वर्षों से कोरोना के कारण यह प्रतियोगिता ऑनलाइन करायी जा रही थी. आने वाले समय में विश्वास है कि पुनः 30 हजार छात्रों की प्रतियोगिता करवायी जायेगी. कार्यक्रम के सहसचिव अशोक अग्रवाल ने धन्यवाद ज्ञापन देते हुए सभी बच्चों को प्रतियोगिता मे भाग लेने पर बधाई दी. कहा कि गीता जीवन जीने की निर्देशिका है. आज के बच्चे कल देश का भविष्य बनेंगे और गीता के माध्यम से भारत को आगे बढ़ाने और विश्वगुरु बनाने मे सहयोग करेंगे.

Related Articles

Back to top button