JharkhandLead NewsRanchi

छात्रों ने हेमंत सरकार पर लगाया आरोप- झारखंड विरोधी है नयी नियोजन नीति

Ranchi : झारखंड यूथ एसोसिशन के छात्र नेता देवेंद्र नाथ महतो ने कैबिनेट के बैठक में लायी गयी संशोधित नियुक्ति नियमावली को झारखंड विरोधी बताया है. छात्रों ने कहा कि यह नियमावली शहीदों के सपनों के विपरीत है. इस प्रस्ताव को झारखंडी युवा कतई स्वीकार नहीं करेंगे.

वर्तमान सरकार ने मैट्रिक के आधार नियुक्ति नियमावली बना कर झारखंडी छात्रों के साथ धोखा किया है. अबुआ दिशुम में अबुआ राज के नाम से कुर्सी पर बैठ कर अबुआ दुशुम में दिकू राज के लिए झारखंड के तृतीय और चतुर्थ वर्ग की नौकरी में दिकूओं के लिए रास्ता साफ कर कर दिया है. झारखंडी छात्र खतियान के आधार पर नियोजन नीति ही स्वीकार करेंगे.

इसे भी पढ़ें :बेरहम और बेशर्म है हेमंत सरकार : दीपक प्रकाश

Sanjeevani

इस प्रस्ताव में हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत को पेपर टू से हटाना झारखंडी छात्रों के लिए महज लॉलीपॉप है. झारखंड में सिर्फ नौ क्षेत्रीय और जनजातीय भाषा के रूप में मान्यता है लेकिन क्षेत्रीय और जनजातीय भाषा के साथ बांग्ला, उर्दू और उड़िया को शामिल किया गया है जो झारखंडी छात्रों के साथ धोखा है. राज्य स्तरीय नियुक्ति में सिर्फ झारखंड सरकार की सूची में शामिल नौ क्षेत्रीय और जनजातीय भाषा ही मान्य है.

उन्होंने कहा कि पारित नियोजन नीति से वर्तमान हेमंत सरकार की मंशा स्पष्ट हो गयी कि यह सरकार झारखंड विरोधी है, युवा विरोधी है.

इसे भी पढ़ें :स्कूल खुलने के कुछ दिनों बाद ही छत्तीसगढ़ में 161 बच्चे हुए कोरोना संक्रमित, अब झारखंड में भी खुल रहे स्कूल

साथ ही मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि अब झारखंडी युवा आक्रोश में हैं. कई शैक्षणिक संगठन, कला – सांस्कृतिक संगठन, साहित्यिक संगठन, सामाजिक संगठन, राजनीतिक – गैर राजनीतिक संगठन, इत्यादि लगभग 24 संगठन झारखंड के इतिहास में पहली बार झारखंड यूथ एसोसिशन के बैनर तले एक साथ मिल कर एक स्वर में अपना हक अधिकार के लिए 8 अगस्त को झारखंड आंदोलन के मसीहा निर्मल महतो के बलिदान दिवस के दिन राज्य भर के जिला मुख्यालय में अगस्त क्रांति के रूप में तथा 10 अगस्त को मुख्यमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर राज्य के मोरहाबादी में बेरोजगार दिवस के रूप में गोलबंद होकर संघर्ष करेंगे जिसकी तैयारी पूरे प्रदेश में हो चुकी है.

मौके पर छात्र नेता मनोज यादव, योगेश चन्द्र भारती, उदय शंकर शांखवार, मुकेश कुमार, निर्मल कुमार, रजत कुमार के अलावा अन्य छात्र मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें :धनबाद : छात्राओं पर लाठीचार्ज मामले में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने दिये जांच के आदेश, कहा लाठीचार्ज करना गलत

Related Articles

Back to top button