न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दो साल से 12वीं परीक्षा में फेल हो रही थी छात्रा, बिल्डिंग से कूदकर दी जान

1,244

Ranchi : 10वीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट आते ही अक्सर छात्रों के द्वारा फेल होने पर आत्महत्या किए जाने की खबर आती रहती है. कुछ छात्र परीक्षा में या तो अच्छे अंक नहीं लाने या फिर फेल हो जाने की वजह से खुद को ही खत्म कर लेते हैं.

उन्हें यह लगने लगता है कि अगर वह अपने जीवन में यह परीक्षा पास नहीं कर सके तो कुछ भी नहीं कर सकते और उनका जीवन खत्म है. ऐसी सोंच की वजह से छात्र गलत कदम उठा लेते हैं. लेकिन ऐसा करना सही नहीं है. जीवन में बहुत कुछ है करने को. जीवन अनुभवों से बना है. इसमें अनुभवों को आने दें.

12वीं परीक्षा में फेल हो जाने की वजह से एक युवती ने बिल्डिंग से कूदकर जान दे दी. घटना सुखदेव नगर थाना क्षेत्र के हरमू रोड मुक्तिधाम के पास नई रिलायंस ट्रेंड्स बिल्डिंग की है.  युवती का नाम अदिति राज बताया जा रहा है. और वह रातू रोड इंद्रपुरी की रहने वाली थी.

इसे भी पढ़ेंःकनाडाई अक्षय कुमार के INS सुमित्रा पर सवार होने को लेकर कांग्रेस ने मोदी को घेरा

12वीं की परीक्षा में फेल होने की वजह से डिप्रेशन में थी छात्रा

12वीं की परीक्षा में रिजल्ट खराब होने की वजह से छात्रा डिप्रेशन में थी. अदिति पिछले दो सालों से 12वीं की परीक्षा में फेल होते आ रही थी. वह इस बात को बर्दास्त नहीं कर सकी और अंत में हारकर उसने अपनी जीवन की लीला ही समाप्त कर ली. लोगों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

इसे भी पढ़ेंः15 अगस्त तक टली अयोध्या मामले की सुनवाई, मध्यस्थता के लिए SC ने दिया और तीन महीने का वक्त

सुबह में घर से स्कूटी लेकर निकली थी अदिति

अदिति शुक्रवार सुबह अपनी स्कूटी लेकर घर से बाहर निकली थी. जिसके बाद काफी देर तक वह घर वापस नहीं गयी. यह देख घरवालों को उसकी चिंता हुई. परिजनों ने अपने स्तर से उसकी खोज की लेकिन वह नहीं मिली.

जिसके बाद परिजनों ने सुखदेव नगर थाने में युवती के ना मिलने का मामला दर्ज करवाया. पुलिस अभी अपने स्तर से खोजबीन कर ही रही थी कि छात्रा की आत्महत्या की खबर मिल गयी. घटना की सूचना तुरंत उसके परिजनों को दी गयी. जिसके बाद युवती के पिता मौके पर पहुंचे. बेटी का शव देख पिता फफक कर रो पड़े.

उन्होंने बताया कि अदिति दो सालों से परीक्षा में फेल हो रही थी. इस बार भी उसका रीजल्ट खराब हुआ था. वह इस बात से काफी ज्यादा परेशान रहती थी. लेकिन हमने कभी भी नहीं सोचा था कि वह इस तरह का कदम उठा लेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: