न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों की हड़ताल खत्म, कुछ मांगों पर सरकार से साथ बनी सहमति

3,043

Ranchi: झारखंड के पारा शिक्षकों ने अपना अनिश्चितकालीन हड़ताल समाप्त करने का फैसला किया है. सरकार के साथ वार्ता में 10,500 रुपये से लेकर 15,000 रुपये मासिक मानदेय पर सहमति बनी. साथ ही 15 नवंबर 2018 को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर पारा शिक्षकों के आंदोलन में जिन पारा शिक्षकों पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी और जो न्यायिक हिरासत में रहे हैं, ऐसे मामलों में विधि परामर्श के बाद यथोचित कार्रवाई करने पर सहमति बनी. मृत पारा शिक्षकों को एक लाख रुपये का अनुदान मिलेगा. पारा शिक्षकों के लिए कल्याण कोष गठित होगा. इस कल्याण कोष से मृत पारा शिक्षकों के परिजनों को तय राशि दी जाएगी. पारा शिक्षकों के वेतनमान और स्थायीकरण की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री ने विभाग को आदेश दिया है. जिस पर तीन माह के अंदर निर्णय लेने को कहा है.

वार्ता के बाद पारा शिक्षकों का नया मानदेय

प्रशिक्षित एवं टेट पास (उच्च् स्तर)₹15000
प्रशिक्षित एवं टेट पास (प्राथमिक स्तर)₹14000
केवल प्रशिक्षित (उच्च् स्तर)₹13000
केवल प्रशिक्षित (प्राथमिक स्तर)₹12000
अप्रशिक्षित₹10500
hosp3

हड़ताली पारा शिक्षकों ने शिक्षा मंत्री नीरा यादव के साथ तीसरी बार वार्ता के बाद हड़ताल खत्म करने का निर्णय लिया गया. पारा शिक्षक लगातार 16 नवंबर से अनिश्चितकालिन हड़ताल पर थे.

शिक्षा मंत्री के साथ पारा शिक्षकों की वार्ता दो बार विफल रही थी. पारा शिक्षकों ने वेतनमान के लिए नियमावली बनने तक पैब की अनुशंसा के अनुरूप 18 हजार, 20 हजार व 22 हजार रुपये मानदेय देने की मांग की. इसके अलावा आंदोलन के दौरान जिन पारा शिक्षकों की मौत हुई है, उनके परिजन को दस लाख रुपये मुआवजा देने समेत अन्य मांगें की गयीं थीं.

इसे भी पढ़ें – सिमडेगा : पारा शिक्षकों की हड़ताल से बंद स्कूलों में पढ़ाने गये थे प्रशिक्षु शिक्षक, अब खुद उनकी पढ़ाई हो गयी बंद

इसे भी पढ़ें – हड़ताल के 56 दिनों में 20 पारा शिक्षकों की मौत, एक लापता

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: