National

41 ऑर्डिनेंस कंपनियों के निजीकरण के खिलाफ 20 अगस्त से  हड़ताल, आरएसएस  का मजदूर संगठन भी शामिल

विज्ञापन

NewDelhi : देश की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के निजीकरण की सुगबुगाहट से  राष्ट्रीय स्तर के तीन मजदूर संगठन 20 अगस्त से एक महीने की लंबी हड़ताल करने जा रहे हैं.  खबर है कि इसमें  आरएसएस से जुड़ा भारतीय मजदूर संघ का घटक भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ भी शामिल है.  जान लें कि यह संगठन रक्षा क्षेत्र के कर्मचारियों के हक के लिए आवाज उठाता है. भारतीय मजदूर संघ के उपाध्यक्ष एमपी सिंह के अनुसार  हड़ताल  20 अगस्त से शुरू होगी, पर सरकार के खिलाफ सभी फैक्ट्रियों के गेट पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है.

एमपी सिंह ने आरोप लगाया कि सरकार ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों को ठीक से काम नहीं करने दे रही है.  कहा कि सरकार  60 प्रतिशत रक्षा सामानों को आयात करती है, उसका निर्माण सरकारी क्षेत्र की आयुध फैक्ट्रियों से कराया जाना चाहिए.  जानकारी के अनुसार  41 ऑर्डिनेंस कंपनियों में लगभग एक लाख, 45 हजार कर्मचारी काम करते हैं. सूत्रों का कहना है  कि रक्षा मंत्रालय 41 ऑर्डिनेंस कंपनियों के साथ 16 अन्य संबद्ध कंपनियों का निजीकरण करने के लिए कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी की अनुमति लेने की तैयारी कर चुका है.

इसे भी पढ़ेंःअमरनाथ यात्रा पर हमला करने की योजना बना रहे हैं आतंकी  : सेना  

20 अगस्त से 20 सितंबर तक हड़ताल

सरकार  के अनुसार  कंपनियों के निजीकरण से प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, जिससे आयुध उत्पादन के साथ टर्नओवर और बेहतर होगा. भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के महासचिव मुकेश सिंह ने संगठन पदाधिकारियों को लिखे पत्र में कहा है कि सरकार की ओर से ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के निजीकरण की कोशिशें उस आश्वासन का उल्लंघन है, जो पूर्व में सरकार की ओर से दिया गया था. मुकेश सिंह ने कर्मचारियों से अपील की  कि वे 20 अगस्त से 20 सितंबर तक हड़ताल पर जाने से पहले सभी फैक्ट्रियों के गेट पर प्रदर्शन में शामिल हों.

सूत्रो के अनुसार 18 जुलाई को दिल्ली में सरकार ने ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के निजीकरण के संबंध में बैठक की. जिसमें ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के चेयरमैन सौरभ कुमार को भी बुलाया गया था. इस मीटिंग की खबर लगने पर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारी आक्रोशित हो गये हैं.

कामकाज पर विपरीत असर न पड़ने दें

उधर हड़ताल की खबरों के बीच ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के डिप्टी डायरेक्टर जनरल नीरज केला ने सभी फैक्ट्री प्रमुखों से कहा है कि वे स्ट्राइक के दौरान यूनिट के कामकाज पर विपरीत असर न पड़ने दें. मजदूर संगठनों ने हड़ताल का ऐलान करते हुए कहा है कि अभी यह आंदोलन का पहला चरण है. इस हड़ताल में भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ (बीपीएमएस), ऑल इंडिया डिफेंस इम्प्लाईज फेडरेशन(एआईडीईएफ), इंडियन नेशनल डिफेंस वर्कर्स फेडरेशन शामिल होंगे.

इसे भी पढ़ेंःवडोदरा में भारी बारिश का कहर, 200 से अधिक मगरमच्छ तालाब बन चुकी सड़कों पर घूम रहे हैं!

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: