National

लॉकडाउन का पालन सख्ती से हो, कोरोना पॉजिटिव केस बढ़े तो महाराष्ट्र में बढ़ा सकता है बंद – राजेश टोपे

Mumbai : महाराष्ट्र के लोग अगर अनुशासन में नहीं रहेंगे और कोविड-19 के मामले बढ़े तो महाराष्ट्र सरकार 14 अप्रैल को बंद नहीं हटाएगी. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने शनिवार को य बात कही. राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 14 तारीख को खत्म हो रहा है.

इस बीच प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार से मिलकर उन्हें कोरोना वायरस के मद्देनजर लोगों के लिए अपने विभाग द्वारा उठाए गये कदमों की जानकारी दी.

टोपे ने लोगों से अनुरोध किया कि वे सख्त अनुशासन का पालन करें, जिससे इस महामारी के मामलों में गिरावट आये और इससे बंद को खत्म करने का मार्ग प्रशस्त होगा. हालांकि उन्होंने कहा कि बंद जब भी हटाया जायेगा चरणबद्ध तरीके से हटाया जाएगा,जिससे सभी लोगों को एक साथ सड़क पर आने की इजाजत नहीं मिले.

इसे भी पढ़ें –चीन ने अपने दोस्त पाकिस्तान को लगाया चूनाः टॉप क्वालिटी का बता ‘अंडरवियर’ से बने मास्क भेजे

अनुशासन से ही घटेगी कोरोना मरीजों की संख्या

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनो वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 24 मार्च को देशभर में 21 दिन के राष्ट्रव्यापी बंद की घोषणा की थी. टोपे ने कहा कि लोगों को सख्ती से अनुशासन बनाए रखना चाहिए. लेकिन अगर वे ऐसा नहीं करते हैं (अनावश्यक रूप से घरों से बाहर आते हैं) और मरीजों की संख्या बढ़ती है, तब कोई और विकल्प नहीं बचेगा और बंद को बढ़ाना होगा.

उन्होंने कहा कि इसलिए लोगों को अनुशासन बरतना चाहिए. अगर वे ऐसा करते हैं तो मरीजों की संख्या घटेगी तथा तब हम बंद को हटा सकते हैं.

टोपे ने बताया कि राज्य में शनिवार को कोविड-19 के 47 और मामले सामने आये, जिससे संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 537 हो गयी. राज्य में इस बीमारी से अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच छगन भुजबल ने पवार को कोरोना वायरस के मद्देनजर अपने विभाग द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी.

एक बयान के मुताबिक, भुजबल ने शरद पवार के निवास सिल्वर ओक पर उनसे मुलाकात की. बयान के मुताबिक, भुजबल ने पवार को बताया कि राशन कार्ड धारकों के लिए सरकार द्वारा लिये गये फैसलों का लाभ जमीनी स्तर तक पहुंचे, यह सुनिश्चित करने के लिये कदम उठाये जा रहे हैं.  मंत्री ने शुक्रवार को कहा था कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिये बुधवार से प्रदेश के 28.61 साथ राशन कार्ड धारकों को करीब 6.94 लाख क्विंटल अनाज वितरित किया गया.

इसे भी पढ़ें –5 अप्रैल को 9 मिनट के लिए सिर्फ घरों के बल्ब बंद करें, अन्य उपकरण चलते रहने देंः ऊर्जा विभाग

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: