JharkhandRanchi

रिम्स में हुई अनियमितता के मामले में दोषियों पर होगी कड़ी कार्रवाईः स्वास्थ्य मंत्री

विज्ञापन

♦रिम्स में पारदर्शिता के साथ पूरी की जायेगी टेंडर प्रक्रिया

♦डायलिसिस केंद्र के लिए नेफ्रोलॉजी विभाग से मांगा गया प्रस्ताव

Ranchi : रिम्स की नवनियुक्त प्रभारी डायरेक्टर डॉ मंजू गाड़ी की अध्यक्षता में सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने एक उच्चस्तरीय बैठक की. जिसमें रिम्स सुपरीटेंडेंट के साथ विभिन्न विभागों के प्रमुख मौजूद थे. इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि उन्हें विभिन्न माध्यमों और जांच रिपोर्ट के माध्यम से अनियमितता की जानकारी प्राप्त हुई है. सभी जांच रिपोर्ट को मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत कर आवश्यक दिशा निर्देश मांगा जायेगा. और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी, चाहे वो कोई भी हों.

advt

उन्होंने स्पष्ट किया है कि स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनायी जायेगी. इसके अलावा उन्होंने कहा कि रिम्स में सभी तरह के टेंडर की प्रक्रिया पारदर्शिता के साथ पूरी की जायेगी. उन्होंने साथ ही बताया कि टेंडर निर्गत करने की प्रक्रिया को निष्पक्ष बनाया जायेगा.

डायलिसिस केंद्र के लिए नेफ्रोलॉजी विभाग से मांगा प्रस्ताव

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने नेफ्रोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ प्रज्ञा पंत से आवश्यक आधारभूत संरचना और सुविधाओं के लिए प्रस्ताव मांगा है. उन्होंने कहा है कि रिम्स में ही इसकी समुचित व्यवस्था हो इसके लिए व्यापक सुधार और बदलाव से संबंधित विस्तृत विवरण का प्रस्ताव भेजें. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नियुक्ति से संबंधित सभी विवादों का अध्ययन विभाग कर रहा है. जल्द ही सारी विसंगतियों को दूर कर इस पर फैसला लिया जायेगा.

महिला का निदेशक बनना महिला सशक्तीकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि रिम्स के इतिहास में पहली बार एक महिला का निदेशक बनना महिला सशक्तीकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. हमारा प्रयास हो कि रिम्स में टीम भावना के साथ कार्य करते हुए गरीबों और जरूरतमंदों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करायी जाये. उन्होंने विश्वास जताया है कि रिम्स की स्वास्थ्य सेवा बेहतर कार्य करेगी. गरीबों और आम जनता को स्वास्थ्य लाभ मिलेगा.

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button