JharkhandLead NewsRanchi

ग्रामीण सड़क-पुल निर्माण में लापरवाही बरतनेवाले ठेकेदारों पर होगी कड़ी कार्रवाई

Ranchi : ग्रामीण कार्य सचिव अजय कुमार सिंह ने ग्रामीण सड़क निर्माण की सारी पेडिंग योजनाओं को हर हाल में समय पर पूर्ण करने का निर्देश इंजीनियरों को दिया है. प्रोजेक्ट भवन सभागार में शुक्रवार को सचिव राज्य के सभी कार्यपालक अभियंताओं के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे. इस बैठक में विभाग के मुख्य अभियंता सहित विभागीय पदाधिकारी उपस्थित थे. सचिव ने चालू योजनाओं की समीक्षा की और जिन योजनाओं के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है उस पर हर हाल में काम प्रारंभ करने का निर्देश दिया. इसके अलावा स्वीकृत योजनाओं का टेंडर आदि की पूरी प्रक्रिया पूर्ण करने को कहा. काम में लापरवाही बरतनेवाले ठेकेदारों पर भी कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश उन्होंने दिया. सचिव ने कहा कि बारिश के कारण कई ग्रामीण सड़कें जर्जर हो चुकी हैं. ऐसे में इन सड़कों को चिन्हित करते हुए अविलंब मरम्मत की जाये. मुख्यमंत्री ग्राम्य सेतु योजना से पुल निर्माण और डीपीआर निर्माण की स्थिति का भी सचिव ने जायजा लिया. सचिव ने पीएमजीएसवाइ योजना से बन रही सड़कों पर तेजी से काम करने को कहा. इसके साथ ही जिन योजनाओं की स्वीकृति केंद्र से लंबित है उसके लिए केंद्रीय अधिकारियों से वार्ता करके योजनाएं स्वीकृत कराने का निर्देश भी दिया. इस बैठक में विशेष सचिव राम कुमार सिन्हा, अभियंता प्रमुख मुरारी भगत, मुख्य अभियंता जय प्रकाश सिंह, मुख्य अभियंता विरेंद्र राम, मुख्य अभियंता अजय रजक, सभी अधीक्षण अभियंता, सभी कार्यपालक अभियंता एवम मुख्यालय के पदाधिकारी उपस्थित थे.

  1. जिन विधायकों द्वारा अब तक 10 करोड़ रुपये तक के सड़क निर्माण व सेतु निर्माण के लिए अनुशंसा नहीं की गयी है, संबंधित कार्यपालक अभियंता उनसे संपर्क कर शीघ्र अनुशंसा प्राप्त कर feasibility report के साथ भेजेंगे.
  2. लंबित सड़क व सेतु योजना को शीघ्र पूर्ण करायेंगे.
  3. मार्च तक संभावित व्यय को ध्यान में रखते हुए राशि की अधियाचना भेंजें.
  4. मुख्य अभियंता ग्रामीण कार्य व विशेष प्रक्षेत्र शीघ्र तकनीकी स्वीकृति देकर प्रस्ताव भेंजें.
  5. अनुश्रवण कोषांग तथा आंतरिक वित्तीय सलाहकार व विभाग के पदाधिकारी शीघ्र प्रशासनिक स्वीकृति देने की कारवाई करें.
  6. इस वित्तीय वर्ष में अधिक से अधिक राशि का व्यय करें. राशि की कोई कमी नहीं होगी.
  7. हर हालात में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जायेगा.
  8. दोषी संवेदकों, पदाधिकारियों एवम कंसल्टेंट के विरुद्ध कड़ी कारवाई की जाये. इन लोगों को समय पर सभी प्रकार की सहायता प्रदान की जाये.
  9. अंचल अधिकारी व वन विभाग के पदाधिकारियों में लंबित पुराने कार्यों की समीक्षा करें तथा संवेदकों से बात कर समस्या का समाधान करें.
  10. सभी अभियंता hotmix प्लांट का प्रत्येक माह निरीक्षण करें.
  11. संवेदकों द्वारा आवश्यक मशीन उपकरण एवम निर्माण सामग्री जहां से ली जा रही है उसकी जानकारी रखें. आवश्यक हो तो Equipment Bank बनाया जाये.
  12. प्रत्येक अभियंता प्रत्येक माह सड़कों व पुलों का निरीक्षण करें एवम निरीक्षण प्रतिवेदन विभाग को भेंजे.
  13. प्रधान सचिव द्वारा स्वयं भी सड़कों एवम पुलों का विस्तृत निरीक्षण किया जायेगा.
  14. सभी पदाधिकारियों को सभी कार्य समय पर करने का निर्देश दिया गया.
  15. लापरवाही बरतनेवाले कंसल्टेंट, संवेदकों एवम अभियंताओं को बख्शा नहीं जायेगा. कार्य संस्कृति में बदलाव लायें अन्यथा खामियाजा भुगतना होगा.

इसे भी पढ़ें – सीएम हेमंत ने की मारुति के परिजनों को 10 लाख रुपये देने की घोषणा

Related Articles

Back to top button