न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मरीज की मौत के बाद रिम्स में हंगामा, पुलिस के हस्तक्षेप से मामला हुआ शांत

मरीजों ने कहा- सीटी स्कैन के लिए इंजेक्शन लगते ही मरीज की हो गयी मौत, इससे पहले तक स्वस्थ थी मरीज और सबसे कर रही थी बातचीत

33

Ranchi : रिम्स में हंगामे का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. हर दूसरे दिन डॉक्टर और मरीजों के परिजनों के बीच टकराव की नौबत आ जारी है. मंगलवार को फिर इस घटना की पुनरावृत्ति हुई, जब शाम एक महिला की मौत इलाज के दौरान हो गयी. महिला के परिजन डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे. देखते-देखते बात काफी बिगड़ गयी और बरियातू थाना को बीच-बचाव के लिए आना पड़ा. पुलिस एवं रिम्स के सुरक्षाकर्मियों के प्रयास से स्थिति पर काबू पाया जा सका.

क्या है मामला

दरसअल, धनबाद की रहनेवाली 35 वर्षीय महिला नीलोफर बानो को पेट में दर्द की शिकायत के बाद 27 नवंबर को रिम्स में भर्ती किया गया था. सर्जरी विभाग में डॉ विजय कुमार की देखरेख में उस महिला का इलाज हो रहा था. महिला के परिजनों ने बताया कि शिकायत ज्यादा होने के बाद ऑपरेशन भी किया गया. इसके बाद सर्जरी विभाग के आईसीयू में उसे भर्ती किया गया. परिजनों ने बताया कि महिला को सीटी स्कैन कराने के लिए कहा गया था. हम सभी लोग उन्हें सीटी स्कैन कराने ले जा रहे थे. इस बीच वह अच्छी तरह से सबसे बात भी कर रही थी. लेकिन, जांच के दौरान ही हमें बताया गया कि महिला की मौत हो गयी है.

परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाये गंभीर आरोप

महिला के परिजनों का कहना है कि रिम्स के डॉक्टरों की लापरवाही के कारण ही नीलोफर की मृत्यु हुई. परिजनों ने डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बीते दिनों महिला का ऑक्सीजन मास्क निकल गया था, जिसे डॉक्टर और नर्सों से अनुरोध करने के बावजूद भी नहीं लगाया गया. वहीं, जिस वक्त महिला को सीटी स्कैन के लिए ले जाया जा रहा था, उस वक्त उसका स्वास्थ्य बेहतर था, महिला परिजनों से बातचीत कर रही थी. मगर, सीटी स्कैन करने के दौरान दिये गये इंजेक्शन से महिला की मौत हो गयी. परिजनों ने रिम्स के डॉक्टर, नर्स और कर्मचारियों पर भी आरोप लगाया कि वह मरीजों के साथ सही बर्ताव नहीं करते, यही कारण है कि उनका मरीज आज इस दुनिया में नही है.

रिम्स में आये दिन हो रहीं ऐसी घटनाएं

रिम्स में डॉक्टरों और परिजनों के बीच टकराव और मारपीट की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. इसी सप्ताह पहले भी दो बार ऐसी शिकायतें आ चुकी हैं. दो दिन पहले ही डॉक्टरों द्वारा मरीज के परिजनों को पटक-पटककर मारे जाने की खबर सामने आयी थी. मंगलवार को फिर डॉक्टरों और परिजन के बीच खूब हंगामा हुआ. परिजन डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हैं, जिसे डॉक्टर बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं और मरीज के परिजनों से उलझ पड़ते हैं. गाली-गलौज और मारपीट की नौबत आ जाती है.

इसे भी पढ़ें-जहरीला चावल-चिकन खाने से बीमार हुए सात युवक, रिम्स में भर्ती

इसे भी पढ़ें- चुंबन प्रतियोगिता पर उठ रहे सवाल, हो सकता है बड़ा बवाल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: