BiharEducation & CareerJharkhandJobsLead NewsRanchi

नियुक्ति वर्ष का हाल (1) : झारखंड में सिर्फ घोषणा, बिहार में हो रही बहाली

राज्य के लाखों शिक्षित बेरोजगार अब भी नौकरी की में आस

Rahul Guru

Ranchi :   हेमंत सोरेन की सरकार ने साल 2021 को नियुक्ति वर्ष घोषित कर रखा है. इस बात की घोषणा उन्होंने दुमका में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के 42 वें स्थापना दिवस समारोह से की थी. इस बात को 180 दिन हो चुके हैं. वहीं नियुक्ति वर्ष की हकीकत यह है कि नयी नियुक्तियों के लिए विज्ञापन तो निकला नहीं. जो नियुक्तियां पेंच में फंसी हुई हैं वो भी पूरी नहीं हो सकी. आलम यह है कि राज्य के बेरोजगार अब भी इसी आस में बैठे हैं कि नियुक्तियों का विज्ञापन जारी किया जायेगा. पढ़ें श्रृंखला की पहली कड़ी..

इसे भी पढ़ें :झिरी से कब खत्म होगा कचरे का पहाड़ !

advt

क्या कोरोना ही है नियुक्ति वर्ष का बाधक

हेमंत सोरेन की सरकार में नियुक्तियों का ऐसा पेंच फंसा है कि बहाली कब होगी इसकी कोई गारंटी नहीं. निश्चित रूप से राज्य कोरोना जैसी महामारी के दौर में है पर ऐसा नहीं है कि राज्य कि अन्य गतिविधियां थमी हुई हैं. रोजगार सृजन को छोड़ कर बाकि सभी गतिविधियां संचालित हो रही हैं. लंबे समय से परीक्षाओं की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों का सवाल है कि राज्य में नियुक्ति वर्ष का बाधक क्या कोरोना ही है? उम्मीदवारों का कहना है कि इसी कोरोना से पड़ोस का राज्य बिहार भी गुजर रहा है. इसके बावजूद वहां नियुक्तियां लगातार हो रही हैं. उम्मीदवार तो यह भी कहने लगे हैं कि नियुक्ति वर्ष झारखंड में घोषित किया गया है और बहाली बिहार में हो रही है.

इसे भी पढ़ें :Proud Moument :  कांस फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाएगी झाऱखंड के फिल्मकार नंदलाल नायक की धूमकुड़िया

बिहार में नियुक्ति की बहार

रोजगार देने की बात करें तो बिहार सरकार ने कई नियुक्तियां की हैं. बीते छह महीने में नियुक्ति, परीक्षा और विज्ञापन की बात करें तो इसी कोरोना महामारी के बीच निकली दारोगा नियुक्ति परीक्षा – 2019 क्लियर करायी गयी. इसका रिजल्ट जारी कर दिया गया गया है. इस परीक्षा के माध्यम से पुलिस सब-इंस्पेक्टर, सार्जेंट और सहायक अधीक्षक जेल के पद पर नियुक्ति की गयी.

बिहार कर्मचारी चयन आयोग की ओर 2062 उम्मीदवारों को नौकरी दी गयी है. इसके साथ ही बिहार लोकसेवा आयोग की ओर से 64 वीं संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से 1454 उम्मीदवारों को विभिन्न सेवाओं में नौकरी दी गयी है.

इसे भी पढ़ें :पेट्रोल और डीजल के बढ़े दाम से सब्जियों के दाम 20 से 40 फीसद बढ़े, आगे और कितनी होगी महंगाई, जानिए !

बिहार कर्मचारी चयन आयोग भी कर रहा है नियुक्तियां

64 वीं संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा की मुख्य परीक्षा 16 जुलाई 2020 को ली गयी थी. तब भी राज्य कोरोना से जूझ रहा था. इतना ही नहीं बिहार कर्मचारी चयन आयोग इंटर स्तरीय परीक्षा (द्वतीय) के माध्यम से 12 से अधिक विभागों में लिपिक, आशुलिपिक, एलडीसी, यूडीसी जैसे पदों पर 2649 लोगों की नियुक्ति करने जा रही है. इसके साथ ही नगर विकास विभाग में 2188 पदों के लिए भी नियुक्ति हो रही है.

इसे भी पढ़ें :दूसरे राज्यों से पौधा नहीं खरीदेगी झारखंड सरकार, पौधा खरीद में करोड़ों रूपये होंगे खर्च

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: