Crime NewsJharkhandRanchi

आंकड़े बता रहे हैं झारखंड में क्राइम का ग्राफ, रोजाना औसतन 5 हत्याएं और 2 लूट

विज्ञापन

Ranchi: झारखंड में 24 जिलों और दो रेल जिले को मिलाकर कुल 26 पुलिस जिले हैं. पिछले एक साल की बात की जाए तो राज्य में हर दिन पांच हत्या और दो लूट की घटनाएं हो रही हैं.

एक तरफ अपराधी इन घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ पुलिस इन लगातार हो रही घटनाओं की वजह से त्रस्त है. झारखंड पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पिछले एक वर्ष में 1928 हत्या की घटनाएं और लूट की 665 घटनाएं सामने आयी हैं.

advt

जिन हत्या और लूट की घटनाओं को अपराधियों ने अंजाम दिया है उनमें से अधिकतर घटनायें दिनदहाड़े अंजाम दी गयी हैं. झारखंड में अपराधियों का मनोबल बढ़ता ही जा रहा है. वो घटनाओं को ऐसे अंजाम दे रहे हैं, जैसे उनके अंदर किसी का खौफ ही बाकी न रहा हो.

इसे भी पढ़ें- #Dhanbad: यौन उत्पीड़न मामले में ढुल्लू महतो की बढ़ी परेशानी, गिरफ्तारी पर रोक लगाने से कोर्ट ने किया इनकार

जमीन विवाद, रंजिश व अवैध संबंध में ली कई लोगों की जान

राज्य में पिछले एक वर्ष के दौरान हुए 1948 हत्याओं में से अधिकांश हत्याएं प्रतिशोध, संपत्ति विवाद, पारिवारिक विवाद, रुपयों के लेनदेन विवाद, नक्सल हत्या और अवैध संबंध के चलते हुई हैं.

adv

कुल हत्याओं में आधे से अधिक जमीन विवाद के कारण हुई हैं. इनमें जमीन कारोबारी, जमीन की दलाली करनेवाले, खरीददार और बिक्री करनेवालों के अलावा परिवार के सदस्यों द्वारा की गयी हत्याएं भी शामिल हैं. हालांकि पुलिस के अनुसार, झारखंड में अधिकांश हत्याएं छोटे-छोटे विवादों की वजह से भी होती है.

इसे भी पढ़ें- #Shaheen_Bagh_Protest-: सुलझने के बजाय उलझता जा रहा है मामला, सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकारों के साथ चौथे दिन भी बातचीत बेनतीजा

राज्य में हर दिन औसतन हो रही दो लूट की घटनाएं

झारखंड में हर दिन औसतन दो लूट की घटनाएं हो रही हैं. पिछले साल में राज्य में छोटी बड़ी कुल 665 लूट की घटनाएं सामने आ चुकी हैं.राज्य में आर्थिक अपराध की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. अपराधी बेलगाम हो गये हैं. अपराधी बेखौफ होकर लूट की घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जा रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग रही.

हाल के महीनों में अगर देखें तो झारखंड में अपराधियों के निशाने पर मुख्य रूप से बैंक और एटीएम रहे हैं. जहां अपराधी दिनदहाड़े बैंक लूट की घटना को अंजाम दे रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर एटीएम तोड़कर रुपयों की चोरी भी की जा रही है.

इसे भी पढ़ें- तो क्या रघुवर दास और राजबाला वर्मा ने 35 लाख लोगों को तीन साल तक भूखे रखने का पाप किया

जानिए किस महीने कितनी हुई हत्या व लूट कि घटनाएं

झारखंड पुलिस के आंकड़े के अनुसार राज्य में जनवरी 2019 से लेकर दिसंबर 2019 तक हत्या की 1945 घटनाएं सामने आयी, जिनमें जनवरी 150, फरवरी 125, मार्च 149, अप्रैल 164, मई 181, जून 191, जुलाई 166, अगस्त 186, सितंबर 173, अक्टूबर 159, नवंबर 129 और दिसंबर 155 हुई हैं.

इसके अलावा लूट की 665 घटनाएं सामने आयी हैं. जिनमें जनवरी 53, फरवरी 30, मार्च 29, अप्रैल 42, मई 67, जून 82, जुलाई 80, अगस्त 69, सितंबर 55, अक्टूबर 62,नवंबर 43, और दिसंबर 53 में लूट की घटनाएं हुई हैं.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close