न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में रेप के आंकड़े चौंकाने वाले: औसतन हर दिन 5 लड़कियां होती हैं शिकार   

राज्य पुलिस के आंकड़ों के अनुसार , 6 साल में रेप के 9088 मामले सामने आये हैं

329

Saurav Singh

Ranchi :  महिला सुरक्षा के नाम पर झारखंड पुलिस और सरकार बड़े-बड़े दावे करती है. लेकिन हकीकत इससे परे है. झारखंड में बेटियां आये दिन छेड़खानी, अपहरण और दुष्कर्म की घटनाओं से डरी हुई हैं. वो खुद को असुरक्षित महसूस करने लगी हैं.

राज्य में दुष्कर्म के आंकड़े भयावह हैं. राज्य पुलिस के आंकड़े के मुताबिक, झारखंड में हर दिन औसतन 5 लड़कियों के साथ होती है दरिंदगी. पिछले छह वर्षों की बात करें, तो इस दौरान राज्य में में दुष्कर्म के 9088 मामले सामने आये हैं.

इसे भी पढ़ें – आखिर क्यों बोकारो विधानसभा क्षेत्र में मुद्दों की नहीं हो रही चर्चा

पिछले छह वर्षो में दुष्कर्म के 9088 मामले आए सामने

राज्य पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, पिछले छह वर्ष में 9088 महिलाओं-लड़कियों के साथ ज्यादती हुई है. जिनमें में रांची 1051, सिमडेगा 254, पाकुड़ 379,  कोडरमा 142,  हजारीबाग  431, गिरिडीह 443, दुमका 435, चतरा 448 , चाईबासा 363, साहिबगंज 613 ,पलामू 376, लातेहार 240, जामताड़ा 148, जमशेदपुर 483, देवघर 447, सरायकेला 210, रामगढ़ 210, लोहरदगा 323, खूंटी 100, गुमला 505, गढ़वा 505, धनबाद 496 और बोकारो 486 जिले में पिछले छह वर्षों के दौरान दुष्कर्म के मामले सामने आये हैं.

20 से 30 फीसदी मामले दबाव या लोकलाज से थाने तक पहुंच ही नहीं पाते

झारखंड में युवतियों की सुरक्षा पर लगातार सवाल उठ रहे हैं. दरअसल गांवों-कस्बों से लेकर राजधानी रांची में भी स्कूल-कॉलेज की लड़कियों के साथ रेप और हत्या के खौफनाक मामले लगातार सामने आ रहे हैं.

देखा जाये तो पिछले तीन साल की तुलना में हर साल दुष्कर्म के मामले झारखंड में बढ़े हैं. अति नक्सल प्रभावित खूंटी, सिमडेगा जिले में अन्य जिलों की तुलना में रेप की घटनाएं कम हुई हैं. साथ ही साइबर क्राइम के लिए चर्चित जामताड़ा में भी रेप की घटनाओं में कमी आयी है.

Sport House

हालांकि जानकार बताते हैं कि यह आंकड़े सिर्फ वैसे हैं, जो थानों तक पहुंचे हैं. वहीं 20 से 30 फीसदी मामले तो ऐसे हैं, जो दबाव या समाज में लोकलाज की वजह से थाने तक पहुंच ही नहीं पाते हैं.

इसे भी पढ़ें – #BJP में बड़ा कन्फ्यूजन: अध्यक्ष कहते- दूसरे चरण के सभी 20 सीट जीतेंगे, प्रवक्ता कहते- दो पर हार रहे

ये आंकड़े पुलिस की निष्क्रियता को भी बयां करती है

पिछले छह वर्षों के दौरान हुए 9088 दुष्कर्म के ये आंकड़े पुलिस की निष्क्रियता को भी बयां करती है. हालांकि यह बात और है कि इस तरह के ज्यादातर मामलों में आरोपी जेल में हैं. इसके बावजूद कई मामलों में पुलिस आरोपियों को पकड़ नहीं पायी है. पुलिस 97 फीसद मामलों का खुलासा करने व आरोपियों को जेल भेजने का दावा करती है.

सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस के अनुसार, दुष्कर्म व पोक्सो अधिनियम में स्पीडी ट्रायल करवाया जा रहा है. स्पीडी ट्रायल का ही नतीजा है कि ऐसी घटनाओं के आधा दर्जन आरोपियों को लोअर कोर्ट ने उम्र कैद से लेकर फांसी की सजा तक सुना दी है.

इसे भी पढ़ें – #unnaokibeti: पीड़िता के परिवार ने कहा- CM योगी के आने तक नहीं होगा अंतिम संस्कार

ज्‍यादातर आरोपी पीड़िता के जान पहचान वाले

जबकि ऐसे कई मामलों में आरोपी पीड़िता की जान पहचान का ही होता है. राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार, दुष्कर्म के 95 फीसदी मामलों में आरोपी पीड़िता का परिचित होता है. आंकड़े बताते हैं कि इन परिचितों में 27 प्रतिशत पड़ोसी भी शामिल होते हैं. जबकि 22 प्रतिशत मामलों में शादी का वादा करने के बाद आरोपी ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

वहीं नौ प्रतिशत दुष्कर्म के मामलों में परिवार के सदस्य और रिश्तेदार शामिल रहते हैं. दुष्कर्म की कुल घटनाओं में दो प्रतिशत लिव इन पार्टनर या पूर्व पति होते हैं. जबकि 1.6 प्रतिशत घटनाओं में ऑफिस के बॉस या सहकर्मी और 33 प्रतिशत अन्य परिचित या सहयोगियों द्वारा दुष्‍कर्म की घटना को अंजाम दिए जाता है.

हाल के महीनों में हुए दुष्कर्म की घटनाएं

26 नवंबर 2019: रांची कांके थाना क्षेत्र के लॉ यूनिवर्सिटी की छात्रा के साथ 12 युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. मामले में सभी 12 आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

18 नवंबर 2019: धनबाद में शौच के लिए रात को निकली आद्रकुड़ी निवासी 22 साल की युवती की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई. मृतका का शव चंदनकियारी थाना अंतर्गत बरमसिया ओपी के आद्रकुड़ी बाटवोआ सीमा पर रविवार सुबह नग्न स्थिति में बिजली के पोल से लटका मिला.

17 सितंबर 2019: जमशेदपुर के सोनारी थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नाबालिग युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला प्रकाश में आया था.

20 जून 2019: चतरा के सिमरिया थाना क्षेत्र की 35 वर्षीय विधवा महिला के साथ अपहरण के बाद सामूहिक दुष्कर्म की घटना का अंजाम दिया गया था.

6 मार्च 2019:  बोकारो में युवती से 11 लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, मामले में चार आरोपी गिरफ्तार हुए थे.

इसे भी पढ़ें – प्याज की झांस नहीं कीमतें रुला रही गृहणियों को, 130-140 रुपये किलो बिका प्याज

Mayfair 2-1-2020
SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like