न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य सचिवालय का कैडर मैनेजमेंट चरमराया, असिस्टेंट से लेकर ज्वाइंट सेक्रेट्री के 1238 पद खाली

3,494
  • सेक्शन ऑफिसर के 515 और अवर सचिव के 120 पद खाली
  • नियमावली बनाने, फाइल ड्राफ्ट करने में हो रही देरी, विलंब होने पर फंस रहे सहायक
  • 2015 से 445 सहायकों की नियुक्ति भी लंबित

Ranchi: राज्य सचिवालय (प्रोजेक्ट भवन व नेपाल हाउस) का कैडर मैनेजमेंट पूरी तरह से चरमरा गया है. एक ओर सरकार एक लाख से अधिक लोगों को रोजगार देने का दावा कर रही है. वहीं राज्य सचिवालय के कामों में अहम भूमिका निभाने वाले सचिवालय सेवा के अफसरों से लेकर कर्मियों की भारी कमी है. इससे नियमावली बनाने, फाइलों की ड्राफ्टिंग करने से लेकर फाइल मूवमेंट में काफी देरी हो रही है. राज्य में सचिवालय सेवा के 2375 पद स्वीकृत हैं. इसमें 1238 पद खाली पड़े हैं. वहीं 2015 से 445 सहायकों की नियुक्ति प्रक्रिया भी लंबित है.

सहमे हुए हैं सचिवालय सेवा के अफसर व कर्मी

झारखंड सचिवालय सेवा संघ के अफसर व कर्मी सहमे हुए हैं. संघ के अध्यक्ष विवेक आनंद बास्के ने बताया कि कर्मियों की कमी के कारण काम में विलंब होता है. इसका खामियाजा सचिवालय सेवा संघ के कर्मियों को भुगतना पड़ता है. हाल ही में स्वास्थ्य विभाग की एएसओ (सहायक प्रशाखा पदाधिकारी) अष्टमी बानरा को फाइल में विलंब होने के कारण चेतावनी दी गई. कर्मियों की कमी के कारण फाइल का निपटारा जल्द नहीं हो पाता है. इस संबंध में मुख्य सचिव और कार्मिक सचिव को भी अवगत कराया गया है. पदाधिकारियों की कमी से प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है. साथ ही मनोबल भी गिर रहा है.

किस श्रेणी के कितने पद हैं रिक्त

पदनाम स्वीकत पद रिक्त पद

अवर सचिव   328            120

संयुक्त सचिव    23                    02

प्रशाखा पदाधिकारी    657             515

सहायक प्रशाखा पदाधिकारी  1313     600

उपसचिव          54              01

क्या कहते हैं झारखंड सचिवालय सेवा संघ के अध्यक्ष

झारखंड सचिवालय सेवा संघ के अध्यक्ष विवेक आनंद बास्के के अनुसार, मुख्य सचिव और कार्मिक सचिव से रिक्त पदों को भरने, पदाधिकारियों को प्रोन्नति देने के साथ विभिन्न पदों का सृजन करने संबंधित ज्ञापन सौंपा गया है. लेकिन इस पर अब तक कोई ठोस पहल नहीं की गई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: