न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य का बिजली उत्पादन शून्यः पूरे प्रदेश में मचा हाहाकार, पांच से छह घंटे बिजली आपूर्ति बाधित

1,934

टीवीएनएल और सिकिदिरी ठप, आधुनिक से भी बिजली नहीं, मांग से 473 मेगावाट कम की सप्लाई

1191 मेगावाट बिजली की है मांग, उपलब्ध है सिर्फ 718 मेगावाट

Ranchi: प्रदेश में 24 घंटे बिजली देने का दावा तो दूर झारखंड का अपने पावर प्लांट से उत्पादन शून्य हो गया है. शुक्रवार से ही टीवीएनएल की दोनों यूनिटों से उत्पादन ठप है. पानी की कमी के कारण सिकिदिरी हाइडल से बिजली का उत्पादन नहीं हो पा रहा है. आधुनिक पावर से बिजली की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. इस कारण पूरे प्रदेश में पिछले दो दिनों से बिजली व्यवस्था चरमरा गई है. हर जिले में पांच से छह घंटे बिजली की कटौती की जा रही है. वहीं अब तक अन्य स्त्रोतों से भी बिजली नहीं ली गई है.

hosp1

डिमांड से 473 मेगावाट की कमी

शुक्रवार को डिमांड से 473 मेगावाट बिजली की कमी रही. बिजली की कुल मांग 1191 मेगावाट है, जिसमें 718 मेगावाट ही बिजली उपलब्ध है. अब तक सरकार की ओर मांग को पूरा करने का कोई भी वैकल्पिक उपाय नहीं किया है. शनिवार को भी 259 मेगावाट बिजली की कमी रही.

38 दिन में 5291 मेगावाट बिजली की कटौती

कम बिजली मिलने का खामियाजा भी प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ा. नौ दिसंबर 2018 से 18 जनवरी 2019 तक 5291 मेगावाट बिजली की कटौती की गई. इस कारण 38 दिनों तक पूरे प्रदेश में औसतन तीन से चार घंटे बिजली की आपूर्ति बाधित रही. वहीं निजी कंपनियों इंलैंड, सीपीपी, आधुनिक सहित सेंट्रल एलोकेशन से अधिकतम 756 मेगावाट तक बिजली ली गई.

गुजर गये 38 दिन, फिर भी जारी है लोड शेडिंग

सूबे में लगातार 38 दिनों से बिजली की कटौती (लोड शेडिंग) जारी है. सिर्फ एक से दो दिन ही बिजली की कटौती नहीं की गई. नौ दिसंबर को 257 मेगावाट, 10 दिसंबर को 158 मेगावाट, 11 दिसंबर को 220 मेगावाट, 12 दिसंबर को 170 मेगावाट, 13 दिसंबर को 228 मेगावाट, 14 दिसंबर को 140 मेगावाट, 15 दिसंबर को 100 मेगावाट, 19 दिसंबर को 125 मेगावाट, 21 दिसंबर को 60 मेगावाट, 22 दिसंबर को 106 मेगावाट, 23 दिसंबर को 203 मेगावाट, 24 दिसंबर को 129 मेगावाट, 25 दिसंबर को 119 मेगावाट, 26 दिसंबर को 155 मेगावाट, 27 दिसंबर को 102 मेगावाट, 28 दिसंबर को 51 मेगावाट, 29 दिसंबर को 212 मेगावाट, 30 दिसंबर को 206 मेगावाट और 31 दिसंबर 2018 को 49 मेगावाट बिजली कम रही. वहीं जनवरी 2019 में चार को 315, पांच को 107, छह जनवरी को 177, सात जनवरी को 163, आठ जनवरी को 191, नौ जनवरी को 121, 10 जनवरी को 149, 11 जनवरी को 80, 12 जनवरी को 82, 13 जनवरी को 80, 14 जनवरी को 116, 15 जनवरी को 251, 16 जनवरी को 300, 17 जनवरी को 192 और 18 जनवरी को 327 और 19 जनवरी को 473 मेगावाट बिजली की कमी रही.

शुक्रवार को क्या रही पावर की स्थिति

टीवीएनएल: 00
सिकिदिरी: 00
सीपीपी: 04 मेगावाट
इंलैंड पावर: 52 मेगावाट
सेंट्रल एलोकेशन: 368 मेगावाट
आधुनिक: 00
एसइआर: 48 मेगावाट
आइइएक्स: 246 मेगावाट
कुल बिजली उपलब्ध: 718 मेगावाट
मांग: 1191 मेगावाट
बिजली की कमी: 473 मेगावाट

इसे भी पढ़ेंः कोल कारोबार में TPC कनेक्शनः HC का जांच कमेटी बनाने का निर्देश जबकि CM की अनुमति के लिए 2.5 साल से लंबित है SIT का प्रस्ताव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: