JharkhandRanchi

#Kota से आ रहे छात्रों का खर्च राज्य सरकार कर रही है वहन :  हेमंत सोरेन

विज्ञापन
  • हैदराबाद से रांची पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों के पहले सीएम पहुंचे हटिया स्टेशन, लिया जायजा
  • मजदूरों को उनके गृह जिला पहुंचाने के लिए राज्य सरकार ने बसें तैयार की, नाम दिया ‘सम्मान रथ’

Ranchi : कोटा में फंसे छात्रों की घर वापसी के निर्णय में केंद्र और राजस्थान सरकार की मदद पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने धन्यवाद दिया है.

उन्होंने कहा है कि कोटा से राज्य के छात्रों को लेकर दो स्पेशल ट्रेन झारखण्ड के लिए रवाना होगी. इस मदद के लिए वे केंद्र सरकार एवं राजस्थान के मुख्यमंत्री को समस्त झारखंडियों की ओर से धन्यवाद देते है.

कोटा के छात्रों के नाम जारी एक संदेश में सीएम ने कहा कि उनके लाने के लिए राज्य सरकार ने अपने मद से खर्च वहन किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची और आसपास के जिलों के लिए शुक्रवार रात 9 बजे एक ट्रेन चलेगी.

advt

वहीं धनबाद एवं उसके आसपास के ज़िलों के लिए शनिवार रात 9 बजे दूसरी ट्रेन खुलेगी. इन छात्रों को लाने का किराया राज्य सरकार ने अपने मद से वहन किया है.

इसे भी पढ़ें : #FightAgainstCorona : अब राज्य में 4 प्राइवेट पैथ लैब में भी होगी कोरोना की जांच, 4500 रुपये लगेंगे

लॉकडाउन 3.0 में नयी नीति बनाकर करेंगे काम

गृह मंत्रालय के 17 मई तक लॉकडाउन बढाने के निर्देश के बाद राज्य सरकार के स्थिति के सवाल पर हेमंत ने कहा कि सरकार नयी नीति बनाकर काम करेगी.

फिलहाल 3 मई तक बनी स्थिति को ध्यान में रख सरकार काम कर रही है. वहीं मजदूरों के वापस लाने के केंद्र द्वारा श्रेय लेने पर पलटवार करते हुए सीएम ने कहा जिन्हें इसका श्रेय लेना है वे खुद माला पहनकर घूमे.

adv

हटिया स्टेशन पहुंच हेमंत ने तैयारी का लिया जायजा

इससे पहले हैदराबाद से झारखंड के करीब 1200 मजदूरों को लेकर एक ट्रेन शुक्रवार रात 11 बजे हटिया स्टेशन आने वाली है. इसकी तैयारी को लेकर मुख्यमंत्री और राज्य के आला अधिकारियों का एक दल देर शाम स्टेशन पहुंचे.

यहां पहुंच कर सीएम ने स्टेशन का निरीक्षण किया. साथ ही अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश भी दिये. प्रवासी श्रमिकों को रांची से संबंधित जिला पहुंचाने की व्यवस्था का सीएम ने जायजा लिया.

इस दौरान मुख्य सचिव सुखदेव सिंह,  डीआइजी अखिलेश झा, रांची डीसी राय महिमापत रे समेत कई वरीय पदाधिकारी मौजूद थे. रांची डीसी ने प्रवासी मजदूरों को लेकर की गयी तैयारी की पूरी जानकारी सीएम को दी.

वहीं सीएम ने राजधानी पहुंचने वाले 1200 मजदूरों की शारीरिक जांच के लिए मेडिकल टीम के साथ थर्मल स्क्रीनिंग, मजदूरों के लिए रखे भोजन की जानकारी ली.

इसे भी पढ़ें : #JPSC का कारनामा: कम अंक में EBC-1 अभ्यर्थी का वित्त सेवा में चयन, विरोध हुआ तो अर्हता अंक 594 से किया 593

सम्मान रथ से भेजे जायेंगे मजदूर

रांची आने वाले मजदूरों को उनके गृह जिले में भेजने के लिए राज्य सरकार ने स्टेशन में कई बसों की व्यवस्था की है. इन बसों को पूरी तरह से सेनिटाइज किया गया है. बसों को सम्मान रथ नाम नाम दिया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मजदूरों के लिए हर संभव तैयारी पूरी कर ली गयी है. जैसे ही मजदूरों रांची पहुंचेगे, स्थिति को देख जिला प्रशासन में इसमें सुधार करने की तैयारी कर ली है.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown Breaking : मोदी सरकार ने 17 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button