JharkhandRanchi

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- गंदगी की वजह से गांधी जी मंदिर नहीं जाते थे, बीजेपी बोली, यह हिंदू धर्म का अपमान

Ranchi: महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर महात्मा गांधी याद तो किये जा रहे हैं, लेकिन राजनीति भी अपने चरम पर है.

Jharkhand Rai

देखें वीडियो- यह वीडियो बीजेपी की तरफ से जारी किया गया है

कांग्रेस ने मोरहाबादी मैदान में गांधी जयंती के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया. कार्यक्रम के दौरान उन्होंने जो कहा उसे बीजेपी ने आड़े हाथों लिया है.

इसे भी पढ़ें – बड़कागांव #BDO और उसकी पत्नी पर नाबालिग से मारपीट के आरोप में #FIR, #DC ने बनायी जांच टीम

Samford

महात्मा गांधी के बारे में बोलते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एक बार गांधी जी से पूछा गया कि आप रोज रघुपति राघव राजा राम गाते हैं, प्रार्थना करते हैं. लेकिन मंदिर नहीं जाते हैं, क्यों.

तो उन्होंने जवाब दिया था कि मंदिरों में भगवान नहीं रहते, क्योंकि वहां सफाई नहीं होती है. वहां कूड़ा कचरा रहता है. मंदिरों में गंदगी रहती है भगवान नहीं. इसलिए मैं वहां नहीं जाता.

इसी बयान के बाद बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता ने मीडिया को अपनी प्रतिक्रिया दी है.

हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करना बंद करें कांग्रेसीः बीजेपी

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव के उस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है जिसमें उन्होंने गांधी जी को गलत तरीके से कोट करते हुए कहा है कि गांधी जी ने मंदिर में जाने से मना किया था.

प्रतुल शाहदेव ने कहा कि यह कांग्रेसियों की अपनी सोच है और वह गलत बयानी करके राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम का दुरुपयोग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – #DoubleEngine की सरकार में बेबस छात्र- 1 : पांच सालों में सरकार नहीं करा पायी असिस्टेंट इंजीनियर की परीक्षा

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव कांग्रेस के हिंदू धर्म के प्रति कुंठित सोच को उजागर कर रहे हैं. रामेश्वर उरांव का गांधी जी को कोट करके यह कहना की मंदिर में भगवान नहीं सिर्फ गंदगी और कूड़ा कचरा रहता है बेहद शर्मनाक और निंदनीय है.

प्रतुल शाहदेव ने कहा कि इस शर्मनाक प्रकरण और हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए कांग्रेस को तुरंत माफी मांगनी चाहिए.

ऐसे विवादास्पद बयान देकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने फिर से तुष्टीकरण की राजनीति करना चाहा है. गलतबयानी कर महात्मा गांधी के नाम का दुरुपयोग करने के लिए और बहुसंख्यक समाज की भावनाओं को आहत करने के लिए कांग्रेसियों को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें – बिजली उत्पादक कंपनियां बेहाल, वितरण कंपनियों पर बकाया पहुंचा 78,000 करोड़, #AdaniPower पर 3,794  करोड़ बकाया  

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: