न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तेजस्वी ने रेल मंत्री को लिखा पत्र, कहा- रेलवे परीक्षा कार्यक्रम से अभ्यर्थियों को हो रही असुविधा

अभ्यर्थियों को उनके घर के नजदीक परीक्षा केंद्र दिया जाए : तेजस्वी

305

Patna : बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद ने रेलवे की ग्रुप सी और डी की भर्तियों के लिए आगामी 9 अगस्त को प्रारंभ होने वाली परीक्षा में भाग लेने वाले बिहार के अभ्यर्थियों का परीक्षा केंद्र दूरस्थ प्रदेशों में निर्धारित किए जाने पर आपत्ति जताते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल को मंगलवार को एक पत्र लिखा.

क्या कहा तेजस्वी ने

तेजस्वी ने गोयल को लिखे पत्र में कहा है कि उक्त परीक्षा में शामिल होने के लिए बिहार के अभ्यर्थियों के परीक्षा केंद्र 1000 से 1500 किलोमीटर दूर के शहरों में निर्घारित किया गया है. किसी को परीक्षा में शामिल होने के लिए मोहाली तो किसी को चेन्नई या बेंगलुरु जाना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि ये परीक्षार्थी अमूमन निम्न या निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों से हैं. आर्थिक रूप से कमजोर अधिकतर परीक्षार्थी इस स्थिति में भी नहीं कि वे आरक्षित सीटों पर यात्रा कर सकें.

अभ्यर्थियों को उनके घर के नजदीक परीक्षा केंद्र दिया जाए : तेजस्वी

तेजस्वी ने कहा कि ट्रेन में रिजर्वेशन करा कर परीक्षा देने जाना निम्न या निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों के अभ्यर्थियों के लिए मुश्किल है. ऐसे में मात्र एक ही रास्ता बच जाता है वह यह कि जनरल कोच में सफर करें. वहीं दूसरी ओर इतनी दूर परीक्षा देने जाने में परीक्षार्थियों को खर्ज भी बहुत आएगा. बहुत से ऐसे परीक्षा केंद्र भी हैं जहां डायरेक्ट ट्रेन की सुविधा भी नहीं है. ऐसे में परीक्षार्थियों की परेशानी और भी ज्यादा बढ़ जाती है. तेजस्वी ने मंत्रायल से कहा कि अभ्यर्थियों को उनके घर के नजदीक परीक्षा केंद्र दिया जाए और परीक्षा की नयी तिथियां घोषित की जाए ताकि उन्हें परेशानी ना है.

रेल मंत्रायल ने क्या कहा

गौरतलब है कि रेलवे ग्रुप सी के पदों पर नौ अगस्त से भर्ती परीक्षा होने हैं. वहीं परीक्षा केंद्र दूर दिए जाने के बारे में रेलवे ने सफाई देते हुए कहा है कि 70 प्रतिशत से ज्यादा परीक्षार्थियों को उनके शहरों से 200 किमी के दारये में ही परीक्षा केंद्र आवंटित किए गए हैं. परीक्षा के लिए लगभग 47 लाख से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है. जिसके बाद उनकी सुविधा को ध्यान में रखकर ही केंद्र आवंटित किए गए हैं. रेल मंत्रालय ने कहा कि शारीरिक रूप से अशक्त 99 प्रतिशत लोगों को परीक्षा केंद्र उनके शहर से 200 किमी के दायरे में दिए गए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: