Crime News

राजधानी में बढ़ रही हैं चाकूबाजी की घटनाएं, छिनतई-लूटपाट का विरोध करने पर अपराधी दे रहे हैं घटनाओं को अंजाम

Ranchi: राजधानी रांची में छिनतई और लूटपाट का विरोध करने और मामूली विवाद में भी अपराधियों के द्वारा चाकू मारने की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. इन दिनों चाकू मार कर घायल करने की घटनाएं सामने आयी हैं. हाल के दिनों में हुई चाकूबाजी की घटना ने कुछ लोगों की जान भी चली गयी है. चाकूबाजी की घटना में शामिल अपराधी पेशेवर अपराधी नहीं हैं, वे नशे की गिरफ्त में होने के कारण और रुपये कमाने के चक्कर में इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – ढुल्लू महतो के आगे क्यों मजबूर है बहुमत वाली रघुवर सरकार

लूटपाट का विरोध करने पर चाकूबाजी

हाल के दिनों में देखें तो राजधानी रांची में आपराधिक तत्व लूटपाट का विरोध करने पर लोगों को चाकू मार कर घायल कर दे रहे हैं. राजधानी रांची में आपराधिक घटनाओं के आंकड़ों से इस बात का पता चलता है कि इस तरह की घटनाओं में युवाओं की संलिप्तता में लगातार इजाफा हो रहा है. इन आकड़ों में हत्या, दुष्कर्म, लूट, छिनतई, चाकूबाजी और चोरी की घटनाएं शामिल हैं. हाल के वर्षों में आपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं. अधिकतर मामलों में युवा ही इन घटनाओं में संलिप्त पाये गये हैं. युवाओं का एक वर्ग आपराधिक गतिविधियों में ज्यादा सक्रिय दिख रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें – फिर से सज गये निजी B.Ed कॉलेजों के टेंट, अब तो काउंसलिंग कैंपस तक पहुंचे इनके प्रतिनिधि

छिनतई, छुरेबाजी, लूट जैसी वारदातों पर नहीं लग रही है लगाम

छिनतई, छुरेबाजी, लूट जैसी वारदातों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस को 50 बाइक दिये गये हैं. जून में ही इन पुलिस बाइकर्स को 50 हॉट स्पॉट चिन्हित कर तैनात किया गया, लेकिन क्राइम में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर लगाम नहीं लग पायी है. लोगों का कहना है कि आखिर कहां गायब हो गये हैं पुलिस बाइकर्स जो स्नेचर्स को दबोच तक नहीं पा रहे हैं. सिटी में छिनतई और लूटपाट का विरोध करने पर अपराधियों द्वारा बेखौफ चाकूबाजी भी की जा रही है. इन दिनों चाकू मार कर घायल करने की कई वारदातें सामने आयी हैं.

200 से 1000 रुपये तक है कीमत

वैसे तो यह रामपुरिया चाकू के नाम से 70 के दशक से ही फेमस है. इसके कई प्रकार रांची के बाजारों में खुलेआम बिकते हैं. इसकी कीमत दो सौ रुपये से शुरू होती है जो एक हजार तक जाती है. खासकर एके-47 ब्रांड का चाकू सबसे अधिक बिक रहा है. इसकी कीमत बाजार में 600 रुपये है. चाकू बेचनेवाले दुकानदारों ने बताया कि कुछ लोग शौकिया तौर पर इसे खरीदते हैं, जबकि बदमाशों के द्वारा इसका इस्तेमाल लूट व छिनतई की घटनाओं को अंजाम देने के लिए किया जाता है. उन्होंने यह भी कहा कि चाकू खरीदने के लिए जब लोग आते हैं तो यह पहचान करना मुश्किल है कि कौन क्रिमिनल है और कौन अपनी सुरक्षा के लिए इसे लेना चाह रहा है.

शहर में चिन्हित किये गये हैं हॉट स्पॉट

अरगोड़ा थाना: वास्तु विहार, अशोक नगर, निगम पार्क, हरमू हाउसिंग कॉलोनी, बसंत विहार, हरमू चौक, डीएवी कपिलदेव के समीप.

adv

बरियातू : पुष्प विहार, तेतर टोली मैदान, भरम टोली, डॉक्टर्स कॉलोनी, हरिहर सिंह रोड और करमटोली.

चुटिया: सुजाता चौक, अनंतपुर, सरकारी बस स्टैंड, मुंडा चौक, क्लब रोड, रेलवे कॉलोनी, बहू बाजार, अपर चुटिया, गोसाईं कॉलोनी.

डोरंडा: कडरू, परस टोली, कुम्हार टोली, मेकॉन, डिबडीह पुल, एयरपोर्ट रोड, पत्थर रोड, गौरी शंकर नगर और जज कॉलोनी.

गोंदा: चांदनी चौक, रांची कॉलेज के समीप, मुख्यमंत्री आवास पूर्वी गेट.

जगन्नाथपुर: सिंह मोड़, लटमा रोड, बिरसा चौक, हवाई नगर, हटिया स्टेशन रोड, पत्थलकोचा, हेसाग, पटेल नगर.

कोतवाली: रणधीर वर्मा चौक, जाकिर हुसैन पार्क, सेवा सदन, किशोरगंज, पुरानी रांची, चडरी तालाब, अल्बर्ट एक्का चौक, लालजी हिरजी रोड, विष्णु गली.

लालपुर: रांची कॉलेज के समीप, डिप्टीपाड़ा, प्लाजा चौक, लोहरा कोचा, व‌र्द्धवान कंपाउंड, पीस रोड, डंगरा टोली और डिस्टिलरी पुल.

लोअर बाजार: ईस्ट जेल रोड, कांटा टोली, कुरैशी मोहल्ला, इस्लाम नगर, नया टोली, थड़पखना और बाबू लेन.

पंडरा ओपी: पिस्का मोड़, ओटीसी मैदान, लकड़ी टाल, जतरा मैदान, पंडरा बाजार.

सदर: चेशायर होम रोड, लालू खटाल, बूटी मोड़, बांधगाड़ी, दीपाटोली, आदर्श नगर और शिव शक्ति नगर.

सुखदेवनगर: बिरला मैदान, राम बिलास पेट्रोल पंप, दुर्गा मंदिर, अलकापुरी, मधुकम, देवी मंडप, आनंद नगर.

तुपुदाना: तुपुदाना चौक, तुपुदाना इंडस्ट्रियल एरिया.

नगड़ी: कटहल मोड़, दलादली चौक.

हाल के दिनों हुई चाकूबाजी की घटना

30 मई : अरगोड़ा थाना क्षेत्र के पीपरटोली में आपसी विवाद के कारण श्रवण कुमार ने मन्नु लोहरा को चाकू मार दिया था. इस घटना में मन्नु लोहरा गंभीर रूप से घायल हुआ था. बाद में इलाज के दौरान इसकी मौत हो गयी थी.

6 जून : कोतवाली थाना क्षेत्र के भुइयांटोली में चाकूबाजी हुई थी, जिसमें पांच लोग घायल हो गये थे.

21 जून : अरगोड़ा थाना क्षेत्र के सरना कोचा में गांजा पीने का विरोध करने पर विवाद हुआ, उसके बाद चरकू, जेरी और बाबू खान ने मंगरा लोहार को चाकू मारा था. घायल मंगरा की रिम्स लाने के दौरान रास्ते में ही मौत हो गयी थी.

5 जुलाई : रतन टॉकिज के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों में से अज्ञात लोगों ने विवेक कुमार को चाकू मारा था.

8 जुलाई : सदर थाना क्षेत्र के कोकर में किराना स्टोर में लूटपाट करने आये आठ अपराधियों ने चार लोगों को चाकू मार कर घायल कर दिया.

10 जुलाई : कांटाटोली बस स्टैंड के पास बुधवार सुबह करीब तीन बजे चार से पांच लड़कों ने छिनतई के दौरान चाकू मार कर दो युवकों को घायल कर दिया.

इसे भी पढ़ें – मॉनसून सत्र का तीसरा दिनः सदन में गूंजा ‘जय श्रीराम’ का नारा, बाधित हुई कार्यवाही

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button