न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अध्यात्मः सहज योग से मिलता है आत्‍मबल, पुणे से हर दिन ध्‍यान का लाइव प्रसारण  

280

New Delhi: कोविड-19 की आपदा ने पूरे विश्‍व को ऐसे मोड़ पर ला खड़ा  किया है जहां निरोग रहने के लिए अपने समाज से कट कर रहना जीने की आवश्‍यक शर्त बन गया है. मनुष्‍य जैसे सामाजिक प्राणी के लिए समाज से अलग रहने का यह अनुभव नया है और लोग अपने अपने ढंग से इसका मुकाबला कर रहे हैं. चेतन ऊर्जा  तरंगों से सामूहिकता को संचारित करने के सिद्धांत  पर आधारित सहज योग ध्‍यान की पद़धति लोगों को आपदा की इस घड़ी में आत्‍म बल प्रदान करने सफल भूमिका निभा रही है.

यह जानकारी देते हुए निर्मला देवी सहजयोग ट्रस्ट, नयी दिल्ली के उपाध्यक्ष दिनेश राय ने बताया कि कोविड-19 से निर्मित आपदा के प्रभाव को कम करने एवं उसके उन्मूलन की दिशा में सहजयोग सामूहिक ध्यान शक्ति का प्रयोग एक कारगर उपचार है. इस दिशा में विश्व भर में फैले हुए सहजयोगी साधक तालाबंदी और सामाजिक दूरी के इस दौर में अपने-अपने घरों पर ऑनलाइन सामूहिक ध्यान से जुड़ कर दिव्य चेतना को वातावरण में फैला रहे हैं. साथ ही सामूहिक ध्यान शक्ति से इस विश्वव्यापी बाधा को समाप्त करने के लिए प्रार्थनाएं, हवन-पूजन एवं सहजयोग ध्यान पद्धति से जुड़ी सभी दिव्य युक्तियों का प्रयोजन अपने-अपने स्थान से कर रहे हैं. यह कार्य इन सभी साधकों की दिनचर्या बन गई है.

इसे भी पढ़ें – #Palamu: नये मिले पांचो कोरोना मरीज छतीसगढ़ में करते थे मजदूरी, नहीं थे संक्रमण के लक्षण

ऑनलाइन कर रहे ध्यान

उन्होंने बताया कि भारत में सामूहिक ध्यान का ऑनलाइन  प्रसारण पुणे स्थित ‘सहजयोग आश्रम प्रतिष्ठान से प्रतिदिन प्रात: 5.30 एवं सायं 7 बजे से विज्ञान एवं तकनीकी के मर्मज्ञ, पूर्ण रूप से स्थापित सहजयोगियों द्वारा किया जा रहा है. जिसे पूरब से लेकर पश्चिम तक दुनियाभर में फैले सहजयोगी साधक हर दिन, अपने घरों में सुरक्षित रह कर, निर्धारित समय पर बैठे, विश्व सामूहिकता से जुड़ कर सामूहिक ध्यान कर रहे हैं. इसके लिए सहजयोग नेशनल ट्रस्ट, नई दिल्ली ने यूट्यूब लाइव, फेसबुक लाइव, मिक्सलेर और नेशनल टीवी जैसे प्लेटफार्म का उपयोग कर इन्हें सामूहिक ध्यान का माध्यम बनाया है.

सहजयोग सामूहिक ध्यान शक्ति मानव शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को सशक्त बनाती है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है, जिससे शरीर निरोगी रहता है. जो लाभान्वित होने के इच्छुक हैं, उनके लिए प्रतिदिन  ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम सायं 5 बजे आयोजित हो रहा है. इससे जुड़ने वाले नये साधकों का ग्राफ प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. सहजयोग पूर्णत: नि:शुल्क है, इसमें किसी भी धर्म-सम्प्रदाय-जाति या वर्ण के लोग जुड़ सकते हैं. नये साधक इससे जुड़ने केवलिए टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 180030700800 पर संपर्क कर सकते हैं जिसे जिसे देश भर में फैले सहजयोगी भाई-बहन संचालित कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand: कम्युनिटी किचन में बढ़ रही कतार से मिल रही भुखमरी की आहट, 7644 भोजन केन्द्र बन रहे गवाह 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like