Khas-KhabarRanchi

झारखंड के हर जिले में खुलेगा मसाला बागान, हजारीबाग से हो रही इसकी शुरुआत

Ranchi: गोवा की तर्ज पर हजारीबाग के डेमोटाड़ स्थित कृषि पर्यटन केंद्र में मसाला बागान खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई है. यहां पहले से ही चाय बगान लगा है. इसके साथ ही कृषि विभाग हर जिले में एक-एक मसाला बागान विकसित करेगा. इसमें मुख्य रूप से रसोई में उपयोग होने वाले कई मसालों की खेती की जा सकेगी.

Jharkhand Rai

खासकर लौंग, इलाईची, दालचीनी की बागवानी कर किसानों को इसकी खेती के लिए प्रेरित किया जाएगा. साथ ही प्रयास होगा कि अन्य मसालों के अलावा झारखंड भी इन मसालों में आत्मनिर्भर बन सके. अभी छोटे स्तर पर गुमला में किसान इसकी खेती करते हैं. जहां धनिया, अदरक, हल्द, लहसुन, सौंफ आदि की खेती होती है.

विभाग इस खेती को लेकर कृषि वैज्ञानिकों से भी राय ले रहा है. ताकि जिन मसालों की खेती अच्छी हो सकती है उसे प्राथमिकता दी जाए. विभागीय सूत्रों के अनुसार, किसान जब तक अपनी आंखों से किसी चीज को नहीं देखते हैं, तब तक वे कही-सुनी बातों पर खेती नहीं करना चाहते. लेकिन सरकार की यह पहल सार्थक साबित होगी और किसानों को खेती का अच्छा विकल्प मिल सकेगा.

इसे भी पढ़ेंः चतराः शौच के लिए घर से निकली युवती रहस्यमयी तरीके से लापता, एक हफ्ते से नहीं कोई सुराग

Samford

किसानों को प्रशिक्षण भी मिलेगा

कृषि विभाग राज्य को मसालों में आत्मनिर्भर बनाने और किसानों की आय बढ़ाने को लेकर इस बागवानी के माध्यम से उन्हें इसकी खेती करने का प्रशिक्षण भी देगा. विभागीय मंत्री बादल पत्रलेख ने बताया कि झारखंड की जो भौगोलिक रचना है उसमें हर किस्म के फल-फूल उगाए जा रहे हैं. गोवा में जिस तरह से मसालों का बागान लगाया गया है उससे वहां के कृषक काफी प्रेरित होते हैं. वहां और उसके आसपास के राज्यों में इसकी खेती भी काफी होती है.

प्रस्ताव में किसानों की आमदनी बढ़ाने पर जोर

मसालों की खेती करने के इच्छुक किसानों को सरकार सस्ते दर पर पौधे व बीज देगी. प्रस्ताव में किसान प्रशिक्षण लेने के बाद इसकी खेती के लिए आगे आ सकते हैं. इसमें सरकार की ओर से 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी उपलब्ध करायी जाएगी और किसानों को खेती में भी सहायता करने का प्रयास किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः मधुपूर उपचुनाव के लिये विधानसभा ने भेजा रिक्विजिशन, मंत्री हाजी हुसैन असांरी की मौत के बाद खाली हुई सीट

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: