न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जीवन में खेलों का विशेष महत्व : सुदर्शन भगत

तीन दिवसीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का समापन

29

Lohardaga : पर्यटन कला संस्कृति खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग झारखंड सरकार और जिला प्रशासन लोहरदगा के संयुक्त तत्वावधान में बहुद्देशीय भवन के इंडोर स्टेडियम में आयोजित तीन दिवसीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का बुधवार को रंगारंग समापन हो गया. प्रतियोगिता में ओवरऑल चैम्पियन का खिताब रांची को मिला, वहीं पश्चिमी सिंहभूम रनर रहा. समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय राज्यमंत्री सह लोहरदगा सांसद सुदर्शन भगत मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंःलूटपाट और छिनतई के आरोपी भोलू को पुलिस ने किया गिरफ्तार, देसी रिवॉल्वर बरामद

खिलाडिय़ों खेल के साथ पढ़ाई पर भी पूरा ध्यान देना चाहिए

मौके पर मंत्री सुदर्शन भगत ने खिलाड़ियों का हौसला अफजाई की. उनमें ऊर्जा का संचार करते हुए खिलाड़ियों को हर संभव मदद करने की बात कही. सुदर्शन भगत ने कहा कि जीवन में खेलों का विशेष महत्व है. सभी खिलाड़ियों को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे खिलाड़ी तैयार करें और उन्हें प्रशिक्षित करें जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जिला व देश का नाम रौशन करें, साथ ही खेल के साथ डिग्री भी होनी जरूरी है. खिलाडिय़ों खेल के साथ पढ़ाई पर भी पूरा ध्यान देना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंःपलामू : इलाज के अभाव में गर्भवती महिला की मौत

जीतेगा वही खिलाड़ी, जो खेल को खेलेगा

प्रतियोगिता में विजेता रहीं बेटियों को बधाई देते हुए आगे भी इसी तरह अपने माता-पिता व देश का नाम रोशन करने की शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि खेल के साथ डिग्री भी होनी जरूरी है. तब ही सरकार आपको रोजगार दे पायेगी. प्रतियोगिता में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करनेवाले खिलाड़ियों को स्मृति चिन्‍हृ तथा मेरिट प्रमाण पत्र देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया. मंत्री ने कहा कि खेल में हार-जीत होते रहती है. लेकिन जीतेगा वही खिलाड़ी, जो खेल को खेलेगा. उन्होंने कहा कि बैडमिंटन उनका भी मनपसंद खेल रहा है और आज इस खेल से कई खिलाड़ी विदेशों में भारत का नाम रौशन कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःकोडरमाः रेल टिकट की कालाबाजारी के खिलाफ आरपीएफ की कार्रवाई

खेल जीवन का प्राणदायी अमृत के समान

विशिष्ट अतिथि उपायुक्त विनोद कुमार ने कहा कि लोहरदगा के खिलाड़ी ऊर्जावान है. खेल जीवन में अनुशासन सिखाता है. इससे शारीरिक और मानसिक शक्ति में बृद्धि होती है. खेल हमे लक्ष्य निर्धारित कर उसे पाने के लिए प्रेरित करता है. जीवन में अनुशासन सिखने का यह बृहद मंच है. खिलाडि़यों से कहा कि खेल जीवन का प्राणदायी अमृत के समान है. इसको खेलने के लिए मन, ध्यान और दृढ़ धैर्य की आवश्‍यकता होती है. डीसी ने कहा कि हमारे राज्य के प्रतिभागी पदक जीत कर आयें. नागुपर में जो राष्ट्रीय टूर्नामेंट होना है उसे लक्ष्य बनायें. हम लोहरदगा में उन्हें सम्मानित करेंगे.

आने वाले समय में झारखंड के सभी 24 जिलों का एक बैडमिंटन टूर्नामेंट का आयोजन करायेंगे. मौके पर उप विकास आयुक्त आर रोनिटा, पूर्व विधायक रमेश उरांव, भाजपा जिलाध्यक्ष राजमोहन राम, सांसद प्रतिनिधि चंद्रशेखर अग्रवाल, डॉ गणेश प्रसाद, बीडीओ गौतम भगत, किशोर कुमार वर्मा, अरुण राम समेत बड़ी संख्या में खेल प्रेमी मौजूद थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: