NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल पर हो विशेष बहस : चंद्रप्रकाश चौधरी

239
mbbs_add

Ranchi : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल 2017 पर झारखंड विधानसभा के मॉनसून सत्र में विशेष बहस की मांग की है. मंत्री और आजसू पार्टी विधायक दल के नेता चंद्रप्रकाश चौधरी समेत अन्य विधायक सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष से मिले और भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल 2017 पर विधानसभा के चालू सत्र में विशेष बहस की मांग की. इस संबंध में उन्हों7ने विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव को एक पत्र भी सौंपा है.

इसे भी पढ़ें- अगला बजट सत्र नए विधानसभा में, दो हजार वनरक्षियों की नियुक्ति जल्द- रघुवर दास

कृषि योग्य भूमि में आयेगी कमी

चंद्रप्रकाश चौधरी ने अपने पत्र में विधानसभा अध्यनक्ष से कहा है कि भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल 2017 को राष्ट्रपति की स्वीकृति मिली. यह विधेयक 12 अगस्त 2017 को झारखंड विधानसभा में बिना बहस के पारित हुआ था. संशोधन से झारखंड में दूरगामी प्रभाव पड़ेगा. इस नीति से कृषि योग्य भूमि में कमी आयेगी और कृषि भूमि के गैर-कृषि उपयोग के लिए हस्तांतरण में तेजी आयेगी.

Hair_club

इसे भी पढ़ें- हम सदन चलने के पक्ष में, सरकार हठधर्मिता छोड़े : हेमंत

जल, जंगल, जमीन आदिवासियों की संस्कृति का हिस्सा हैं

उन्होंकने कहा है कि भारतीय संविधान की विभिन्न धाराओं में आदिवासी समाज की सामाजिक व्यवस्था को कानूनी संरक्षण प्राप्त है. जल-जंगल-जमीन सिर्फ उनकी कृषि का हिस्सा नहीं है, ये उनकी संस्कृति का हिस्सा हैं. चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने भी बिल में इस बात का जिक्र करते हुए आपत्ति जतायी थी कि राज्य की 80 फीसदी जनता कृषि पर निर्भर है. राज्य में किसानों के पास बहुफसलीय कृषि भूमि उसे पास उपलब्ध जमीन का 20 ही फीसदी है. कृषि मंत्रालय की इस आपत्ति पर केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा इस संशोधन बिल को खारिज करते हुए वापस भेज दिया गया था. इसलिए आजसू पार्टी अनुरोध करती है कि इस महत्वपूर्ण तथा संवेदनशील विषय पर विधानसभा के चालू सत्र में विशेष बहस हो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

nilaai_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

bablu_singh

Comments are closed.