न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कश्मीर में तैनात स्पेशल एक्शन ग्रुप पाकेट ड्रोन्स से लैस होंगे, आतंकी घरों में छुप नहीं पायेंगे

कश्मीर में तैनात नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएएसजी) के स्पेशल एक्शन ग्रुप को आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए पाकेट ड्रोन्स मिलेंगे.

94

NewDelhi : कश्मीर में तैनात नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएएसजी) के स्पेशल एक्शन ग्रुप को आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए पाकेट ड्रोन्स मिलेंगे. पाकेट ड्रोन्स के जरिये किसी भी बिल्डिंग में छुपे आतंकियों को  आसानी से तलाशा जा सकेगा. बता दें कि ऐसे ऑपरेशन में अक्सर जानका जोखिम सर्वाधिक होता है, लेकिन मिनी ड्रोन्स यानी पाकेट ड्रोन्स की सहायता से होने वाले ऑपेरशन लाभकारी होंगे. इस संबंध में एनएसजी के एक  अधिकारी ने कहा, स्पेशल फोर्सस पॉकेट हेलीकाप्टर ड्रोन्स का इस्तेमाल करती रही है. बताया कि दुनिया के कई देशों की स्पेशल फोर्स इस तरह के मिनी ड्रोन्स का इस्तेमाल कर रही है.  बताया कि पाकेट ड्रोन्स का वजन काफी कम होता है. दुनिया के कुछ देशों की स्पेशल फोर्स के पास 18 ग्राम तक के भी मिनी ड्रोन्स मौजूद हैं. कमांडों इसे अपनी जेब में भी रख सकते हैं. इसलिए इसे पॉकेट ड्रोन भी कहा जाता है.

इसे भी पढ़ेंः गृहमंत्रालय के निर्देश पर अब अमित शाह को राष्ट्रपति, पीएम मोदी जैसी सुरक्षा मिलेगी

घर में छुपे आतंकियों पर ड्रोन के जरिये बम गिराये जा सकेंगे

hosp3

एनएसजी किसी भी घर में छुपे आतंकियों को मार गिराने के लिए ऐसे ड्रोन्स का इस्तेमाल करेगी. किसी भी कमांडों के लिए रूम इन्टवेंशन ऑपरेशन यानि घर में घुसकर आतंकियों को मार गिराने की आवश्यकता नहीं होगी. केंद्रीय गृह मंत्रालय में  हुई एक अहम बैठक में एनएएसजी को काउंटर ड्रोन की क्षमता से लैस कराने का फैसला किया गया है.  पिछले दिनों वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर ड्रोन से हमला किया गया था. प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी पर भी आतंकी हमले का खतरा हर समय बना रहता है.

ऐसे में सुरक्षा एजेंसियां किसी भी ड्रोन्स को हवा में ही मार गिराने की तैयारी में जुट गयी है. एनएसजी के एक अधिकारी के अनुसार दुनिया के कुछ देशों के पास मौजूद ऐसी टेक्नोलॉजी को भारत अपनी  ड्रिल में शामिल कर रहा है. इससे दूर से ही ऐसे ड्रोन्स की पहचान की जा सकेगी और कुछ ही सेकेंड में ड्रोन्स को हवा में ही मार गिराया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: