न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोरोना से स्पेन की राजकुमारी की मौत, 24 घंटे में 832 मौतें, मृतकों का आकड़ा 5,600 तक पहुंचा

2,032

Medrid :   कोरोना के संक्रमण से स्पेन की राजकुमारी मारिया टेरेसा की मौत हो गयी. वे 86 साल की थीं. इस मौत के बारे में उनके भाई प्रिंस सिक्सटो एनरिके डी बॉरबोन ने फेसबुक पर जानकारी दी. बताया जा रहा है कि राजकुमारी की मौत 26 मार्च को ही हुई. नोवल कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद राजकुमारी का इलाज चल रहा था.

दुनियाभर में किसी रॉयल फैमिली से यह पहली मौत है. देश-दुनिया के कई लोग इस बीमारी की चपेट में आए हैं. लेकिन मौत के केस में स्पेन से यह बड़ी खबर है. बता दें, यूरोपीय देशों में इटली के बाद स्पेन ही कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

इसे भी पढ़ेंः #COVID2019india: यूथ कांग्रेस ने जिलेवार और रांची जिला प्रशासन ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए जारी किया हेल्पलाइन नंबर

स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत होने के बाद इस संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या शनिवार को 5,600 से अधिक हो गयी. अधिकारियों का मानना है कि देश में यह महामारी अपने चरम पर पहुंचती प्रतीत होती है.

इस बीच, सरकार ने बताया कि वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 72 हजार से अधिक हो गयी है.पूरी दुनिया में इटली के बाद स्पेन में कोरोना वायरस से सर्वाधिक मौत हुई हैं. इटली में इस वायरस से 5,690 लोगों की मौत हो चुकी है. स्पेन में 72 हजार 248 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

इसे भी पढ़ेंः #FightAgainstCorona : स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ कर 918 हुए, 19 की मौत 

हालांकि, स्पेन में रोजाना आठ हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं लेकिन नए संक्रमण के मामलों में कमी आने के संकेत दिख रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि लगता है कि महामारी अपने चरम पर है. मैड्रिड सबसे बुरी तरह से प्रभावित क्षेत्र है, जहां 2,757 लोगों की मौत हो चुकी है और 21,520 लोग इससे संक्रमित है..

स्वास्थ्य मंत्रालय के आपात मामलों के समन्वयक फर्नांडो सिमोन ने कहा, ‘‘संक्रमण के नए मामलों में कमी आ रही है या इनकी संख्या कुछ हद तक स्थिर हो रही है.’’ उन्होंने कहा कि यह इस बात का संकेत है कि आंकड़े अपने चरम पर पहुंचने के ‘‘बहुत नजदीक’’ है.

सिमोन ने कहा कि देश में आईसीयू पर बढ़ रहा दबाव चिंता की बात है.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaEffect: सत्यानंद भोक्ता बोले- बाहर फंसे मजदूरों की मदद कर रही सरकार

 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like