Lead NewsNationalWorld

जल्द ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित होगा ये देश! वरिष्ठ मंत्री ने किया जनमत संग्रह का समर्थन

Kathmandu : नेपाल (Nepal) सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री प्रेम अले (Prem Ale) ने नेपाल को हिंदू राष्ट्र (Hindu Nation) घोषित करने की मांग का समर्थन करते हुए गुरुवार को कहा कि अगर अधिकतर आबादी इसके पक्ष में है तो इसे जनमत संग्रह (Referendum) के माध्यम से किया जा सकता है.

पर्यटन और संस्कृति मंत्री प्रेम अले ने काठमांडू (Kathmandu) में वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन (World Hindu Federation) की दो दिवसीय कार्यकारिणी परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग पर विचार किया जा सकता है और अगर ऐसी मांग आती है तो वो ‘एक रचनात्मक भूमिका निभाएंगे.’

इसे भी पढ़ें:The Kashmir Files ने दुनिया भर में कमाये 300 करोड़, PM मोदी की तारीफ, विपक्षी दलों की ताबड़तोड़ आलोचना ने दी बेशुमार पब्लिसिटी

ram janam hospital
Catalyst IAS

वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन ने उठाई हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

बता दें कि मंत्री प्रेम अले यहां कार्यक्रम के दौरान वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन की तरफ से उठाई गई मांग का जवाब दे रहे थे. कार्यकारिणी परिषद की बैठक में नेपाल, भारत, बांग्लादेश, श्रीलंका, मलेशिया, अमेरिका, जर्मनी और ब्रिटेन सहित 12 देशों के 150 से अधिक प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं.

मंत्री ने किया जनमत संग्रह का समर्थन

उन्होंने कहा, ‘चूंकि पांच दलों के गठबंधन वाली मौजूदा सरकार को संसद में दो तिहाई बहुमत है, नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग को जनमत संग्रह में रखा जा सकता है.’ मंत्री प्रेम अले ने सवाल किया, ‘हमारे संविधान ने देश को एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित किया है लेकिन अगर बहुसंख्यक आबादी हिंदू राष्ट्र के पक्ष में है तो जनमत संग्रह के माध्यम से नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित क्यों नहीं किया गया?’

इसे भी पढ़ें:Ram Navami 2022: अखाड़ा जुलूस न‍िकालने की इजाजत से सम‍ित‍ियों में उत्‍साह, जम्‍बू अखाड़ा ने की है खास तैयारी, जान‍िए

2006 से पहले था हिंदू राष्ट्र

साल 2006 के जन आंदोलन में राजशाही को खत्म किए जाने के बाद नेपाल को 2008 में धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित किया गया था. नेपाल में अधिकतर हिंदू आबादी है. कार्यक्रम के दौरान वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन इंटरनेशनल के अध्यक्ष अजय सिंह ने मांग की कि नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए क्योंकि देश में हिंदू आबादी का एक बड़ा हिस्सा रहता है.

अजय सिंह ने सवाल किया, ‘अगर कुछ देशों को इस्लामिक राष्ट्र, अन्य देशों को ईसाई राष्ट्र घोषित किया जा सकता है और लोकतांत्रिक व्यवस्था भी कायम रह सकती है तो नेपाल को हिंदू लोकतांत्रिक देश घोषित क्यों नहीं किया जा सकता?’

उन्होंने कहा, ‘मैं नेपाली कांग्रेस, सीपीएन-माओइस्ट सेंटर, सीपीएन-यूएमएल और मधेसी दलों से नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए आगे आने का आह्वान करता हूं.’

इसे भी पढ़ें:झारखंड के डॉक्टर कल नहीं देखेंगे मरीज, सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी रहेगी ठप

Related Articles

Back to top button