JharkhandLead NewsRanchi

सोनिया गांधी ने लालू यादव से की फोन पर बात, खत्म हो सकता है कांग्रेस-राजद का टसल

Political Editor

RANCHI. बिहार में दो विधानसभा उपचुनाव से पहले कांग्रेस और राजद के बीच शुरू हुआ टसल ख़त्म हो सकता है. बिहार में महागठबंधन के अंदर उथल-पुथल के बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच फोन पर बातचीत हुई है. राजद और कांग्रेस के बीच खीचीं तलवार के बाद अब दोनों दलों के बीच का विवाद ठंडा हो सकता है, ऐसे आसार जताए जा रहे हैं.बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास और दूसरे नेता भले ही राजद से गठबंधन तोड़ देने का एलान करते रहें, लेकिन उनकी पार्टी का आलाकमान इस बात के लिए तैयार शायद नहीं है.

advt

इसे भी पढ़ें :  BH Series की सुविधा के लिये झारखंड के लोगों को करना होगा इंतजार, जानें-बीएच सीरीज के फायदे हैं

राजद और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के बड़े नेता चाहते हैं कि उनका गठबंधन बना रहे. मंगलवार को सोनिया गांधी ने अचानक लालू यादव को फोन किया तो यह बात पूरी तरह पुष्ट हो गई. लालू ने कहा था कि वे कांग्रेस के छुटभैये नेताओं की बातों की नोटिस नहीं लेते. उन्होंने कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास को ‘भकचोन्हर’ तक कह दिया था. भकचोन्हगर भोजपुरी का शब्द है, जिसका मतलब बड़ा बेवकूफ या मतिभ्रम जैसा होता है. बहरहाल, लालू यादव ने खुद ही बताया है कि सोनिया गांधी से उनकी किन मसलों पर बात हुई है.

इसे भी पढ़ें :  मनोहरपुर के दो बच्चों को बाल तस्करों से बचाया

जल्द ही होगी देश के बड़े सेकुलर नेताओं की बैठक : लालू

लालू ने बताया कि उन्होंने सोनिया गांधी को राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस का समर्थन करते रहने का आश्वासन दिया. लालू ने कहा कि जल्द ही सेकुलर राजनीतिक दलों की एक बैठक होगी. माना जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच बिहार के मौजूदा राजनीतिक हालात और बिहार विधानसभा की दो सीटों के लिए उप चुनाव पर भी चर्चा हुई है. दोनों नेताओं ने एक-दूसरे के स्वास्थ्य का हाल भी जाना.

भक्त चरण दास और मदन मोहन झा से फीडबैक के बाद किया फोन

कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव के बीच बात मंगलवार को ही हुई थी. दरअसल, सोनिया ने मंगलवार को कांग्रेस के सभी महासचिव, राज्य प्रभारी और राज्य इकाइयों के अध्यक्षों के साथ बैठक की थी. इस बैठक के बाद ही उन्होंने लालू को फ़ोन किया था. माना जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने बिहार के राजनीतिक हालात पर राज्य प्रभारी भक्त चरण दास और प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा से फीडबैक लेने के बाद यह कदम उठाया.

इसे भी पढ़ें :  झारखंड में शहरों की श्रेणी के अनुसार तैनात होंगे मोटरयान निरीक्षक, 25 नये पद का सृजन

उपचुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर महागठबंधन में हुआ था दरार

बिहार में तारापुर और कुशेश्वर स्थान विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होना है. महागठबंधन में शामिल दलों से बात किये बिना राजद ने दो सीटों पर चुनाव लड़ने के अपने फैसले की घोषणा कर दी थी. जिसके बाद कांग्रेस ने भी दो सीटों के लिए अपने उम्मीदवार उतार दिए. इस कारण राज्य में सहयोगी दलों के बीच दरार पैदा हो गई. बिहार उपचुनाव के ठीक पहले लालू यादव बिहार लौट गये हैं. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और दिल्ली से निकलते समय कुछ ऐसे बयान दे दिये थे जिससे बिहार की सियासत गरमा गयी थी. सीट शेयरिंग को लेकर पनपे विवाद पर बोलते हुए उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा था.

कांग्रेस उम्मीदवार जमानत जब्त करा देते इसलिये उस सीट पर राजद लड़ी, लालू यादव के इस बयान के बाद कांग्रेस के तरफ से भी तीखी प्रतिक्रियाएं आने लगी थी. अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एआईसीसी महासचिवों, राज्य प्रभारियों और पीसीसी अध्यक्षों की बैठक के बाद लालू प्रसाद यादव से बात की है. कांग्रेस और राजद के बीच तल्खी बढ़ी तो राजद प्रमुख ने कांग्रेस की तारीफ भी कर दी. उन्होंने कांग्रेस को नेशनल पार्टी बताते हुए उसकी ताकत को स्वीकार किया. वहीं कांग्रेस से अपने पुराने साथ और कांग्रेस के लिए किये अपने समर्थन की भी याद दिलाई. अब सोनिया गांधी से फोन पर हुई बात के बाद यह कयास लगाये जा रहे हैं कि राजद और कांग्रेस एक दूसरे से आमने-सामने होकर हमलावर नहीं होगी.

इसे भी पढ़ें :  चाईबासा मेडिकल कॉलेज का निर्माण कर रही सिंप्लेक्स ने 37 करोड़ लेने के बाद बंद किया काम, डिबार करने की तैयारी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: