न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#SoniaGandhi ने कहा, कुछ लोग चाहते हैं गांधी नहीं, #RSS भारत का प्रतीक बन जाये

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की पदयात्रा के समापन के बाद सोनिया ने राजघाट पर पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की.

48

NewDelhi : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर पर बापू को नमन करते हुए बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस एवं भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग खुद को सर्वेसर्वा बताने की इच्छा रखते हों वो राष्ट्रपिता के आदर्शों को कैसे समझ सकते हैं. दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की पदयात्रा के समापन के बाद सोनिया ने राजघाट पर पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की.

इसे भी पढ़ें : आज गांधी को महान बतायेंगे, कल से फिर गोडसे को (पढ़ें, BJP नेताओं के बोल)

Sport House

गांधी जी का नाम लेना आसान है, उनके बताये रास्ता पर चलना मुश्किल

उन्होंने कहा, आज हमारा देश और पूरी दुनिया महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती मना रहे हैं, तो हम सभी को इस बात पर गर्व है कि भारत आज जहां पहुंचा है वह गांधी के रास्ते पर चलकर पहुंचा है. सोनिया गांधी ने मोदी और भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा, गांधी जी का नाम लेना आसान है, लेकिन उनके बताए रास्ता पर चलना मुश्किल है. गांधी जी का नाम लेकर भारत को अपने रास्ते पर ले जाने वाले पहले भी कम नहीं थे, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में साम दाम दंड भेद का खुला खेल करके वो अपना आपको बहुत ताकतवर समझते हैं.\

इसे भी पढ़ें : #GandhiAt150 : बापू को देश का नमन, PM ने राजघाट पर दी श्रद्धांजलि

भारत और गांधी एक दूसरे के पर्याय हैं

उन्होंने कहा, इन सबके बावजूद भारत नहीं भटका तो इसकी वजह है कि हमारे देश की बुनियाद में गांधी के आदर्शों की आधारशिला है. सोनिया ने कहा, भारत और गांधी एक दूसरे के पर्याय हैं. यह अलग बात है कि कुछ लोग इसे उलटा करने की कोशिश करते हैं. कुछ लोग चाहते हैं कि गांधी नहीं बल्कि आरएसएस भारत का प्रतीक बन जाये. मैं ऐसे लोगों को बताना चाहती हूं कि हमारे देश की मिलीजुली संस्कृति और समाज गांधी जी की सर्वसमावेशी व्यवस्था के अलावा दूसरे के बारे में सोच नहीं सकता.

Mayfair 2-1-2020

उन्होंने कहा, जो लोग असत्य के आधार पर राजनीति कर रहे हैं वो कैसे समझेंगे कि गांधी जी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे. जो सारी शक्ति अपनी मुठ्टी में रखना चाहते हैं वे कैसे समझेंगे कि गांधी जी के स्वराज का क्या मतलब है. सोनिया ने कहा, जिन्हें मौका मिलते ही अपने को सर्वेसर्वा बताने की इच्छा हो वो कैसे समझेंगे कि गांधी जी की सेवा का क्या मतलब है?

इसे भी पढ़ें : #IshratJahan की मां ने #CBI अदालत को लिखा पत्र, अब नहीं लड़ सकती केस, नाउम्मीद और बेबस हो गयी हूं

 

 

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like