BiharJamshedpurJharkhand

Jamshedpur: समाजसेवी उर्म‍िला देवी नहीं रहीं, ब‍िहार के सिमरी बख्‍त‍ियारपुर में ली अंत‍िम सांस

Jamshedpur: समाजसेवी उर्म‍िला देवी नहीं रहीं. उन्‍होंने ब‍िहार के सि‍मरी बख्‍ति‍यारपुर में अंत‍िम सांस ली. पत्रकार श्रवण कुमार लिबास की 75 वर्षीय पत्नी समाजसेवी उर्मिला देवी के असामयिक निधन से इलाके में शोक की लहर दौड़ गई. उनकी अंत्येष्टि पुरानी बाजार स्थित निज स्थान पर की गई. अंत्येष्टि यात्रा में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया. उर्म‍िला देवी अपने पीछे चार पुत्र राजेश कुमार, शैलेश कुमार, देवेश कुमार एवं विकास चंद्र एवं तीन पुत्री मधु देवी, बांबी एवं मंजू देवी सहित भरा पूरा परिवार छोड़ गयी हैं. मुखाग्‍न‍ि बड़े पुत्र राजेश कुमार ने दी.

इनके निधन पर मधेपुरा के सांसद दिनेश चंद्र यादव ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि उर्मिला देवी सामाजिक महिला के साथ -साथ एक कुशल गृहिणी थीं. ताउम्र उन्होंने गरीबों की सेवा की. खगड़िया के सांसद चौधरी महबूब अली कैसर ने कहा कि उर्मिला देवी के निधन से हम सभी मर्माहत हैं. उनका आशीर्वाद सदैव हमें मिलता था. आज हमारे बीच नहीं हैं. हमें काफी दुख है. वहीं सिमरी बख्तियारपुर के विधायक युसूफ सलाउद्दीन ने भी दुःख व्यक्त किया है. पूर्व विधायक डॉ अरुण कुमार ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि उर्मिला देवी सामाजिक के साथ- साथ एक धर्म परायण महिला थी. मुहल्ले में जरूरतमंदों के बीच मदद करती थी. पूर्व जिप उपाध्यक्ष रितेश रंजन ने कहा क‍ि उर्म‍िला देवी के निधन से हम सभी मर्माहत हैं. शोक संवेदना प्रकट करनेवालों में निवर्तमान नपं उपाध्यक्ष विकास कुमार विक्की, चंद्रमणि बिपिन भगत, मुखिया संध के अध्यक्ष सुमन सिंह, शिवजी मोदी, सीताराम गुप्ता, संतोष भगत, सर्वेश गुप्ता, ललन कुमार मुखिया, चंद्रमुकेश, संतोष लाल सहित कई पत्रकार शाम‍िल हैं.

ये भी पढ़ें- EXCLUSIVE : जमशेदपुर सदर अस्पताल जाकर हाथ गंवानेवाली कली शर्मा को लगा था कैंसरकारी रेनिटिडिन का इंजेक्शन, अमेरिका और यूरोप में बैन है यह दवा, DCI ने 2019 में जारी की थी चेतावनी

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button