OpinionRanchi

Social Security और मौलिक अधिकारों के हनन का खतरा

Shivam Krishna

Ranchi : आज के दौर में मोबाइल फोन हमारे बहुत ही करीब है, ये हमें अन्य लोगों से भी करीब जाने में मदद करता है. एक टच में हम उस इंसान तक पहुंच जाते हैं जिस तक पहुंचने के लिए या तो हमें वीज़ा चाहिए या ओहदा, पर ये छोटी सी डिवाइस जो आप भी अभी अपने हाथों में पकड़े हुए हैं, ये वो सब करने की काबिलियत रखती है जो करने में आपको वर्षों लग जाएंगे.

advt

सवाल उठता है कि क्या ये मोबाइल हमें दुनिया के करीब ला रहा है या हमें वो चश्मा पहना रहा है जो स्क्रीन के दूसरी तरफ बैठा आदमी हमें पहनाना चाह रहा है. क्या ये चश्मा असलियत से हमारा परिचय करा रहा है या ये चश्मा वही दिखा रहा है जितना प्लस या माइनस इसकी क्षमता है. ये Social Media क्या हमारी पहचान दूसरों तक पहुंचाने में सक्षम है?

इसे भी पढ़ें :RANCHI NEWS : हीमोफीलिया के मरीज भी ले सकते हैं कोविड वैक्सीन

  hashtag को बैन कर देती हैं सरकारें

जब हम किसी भी सोशल मीडिया के प्लेटफार्म में एक अकाउंट बनाते हैं, उसे चलाते हैं और उसपर किसी मुद्दे पे अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं, कई लोगों की टिप्पणी आती है, लोग या तो पॉजिटिव अप्रोच रखते हैं या नेगेटिव, खंडन करते हैं, आपका महिमा मंडन करते हैं. आपको पता भी नहीं चलता और कब सरकारें आपके डाले एक hashtag को बैन कर देती है और रातों रात आपका वो सोशल मीडिया अकाउंट बंद हो जाता है.

पलक झपकते ही वो सारे लोग जो आपसे इस वर्चुअल दुनिया में आपके मित्र थे, खो जाते हैं. आप यही सवाल करते हैं की क्या ये एक सरकार की कीर्तिमान को बनाए रखने की एक पहल है या मेरे मौलिक अधिकारों का खिलवाड़.

इसे भी पढ़ें :सुप्रीम कोर्ट ने कहा, लॉकडाउन पर विचार करें केंद्र व राज्य

इसका जवाब छुपा पड़ा है आपकी ही नैतिकता में, आपके विचारों में, जो आपको एक व्यक्ति से व्यक्ति विशेष बनाने के काबिल है. देश स्वतंत्र विचार रखने की अनुमति सभी को देता है पर Social Security की कमी आपके निजी और संवेदनशाली चीजों को गुप्त रखने की कमी आपके ही मौलिक अधिकार का हनन कर रही है. इस त्रासदी की पूर्ति जबतक नही होती, तबतक आपके विचारों का स्वतंत्र उड़ान भर पाना असम्भव है.

इसे भी पढ़ें :वैज्ञानिकों ने खोजी कोरोना के बाद आने वाली महामारी, जानिये किस देश से और कैसे फैल सकती है

शेष अगले भाग में.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: