न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

CSDS का सोशल मीडिया सर्वे : 75 फीसदी हिंदुओं ने माना, भारत में सभी धर्म बराबर

सीएसडीएस की तरफ से अप्रैल से मई के बीच देश के 26 राज्यों की 211 संसदीय क्षेत्रों में फील्डवर्क किया गया.

121

NewDelhi : भारत में सभी धर्म बराबर हैं. यह देश सभी धर्मों के लोगों का है.  भारत में 75 फीसदी हिंदुओं का यही मानना है . सेंटर फॉर स्टडीज ऑफ डेवलपमेंट सोसायटीज (CSDS) द्वारा सोशल मीडिया पर किये गये एक सर्वे में यह बात सामने आयी है.   वहीं 20 फीसदी लोगों की राय इस बात से अलग थी. सीएसडीएस ने यह सर्वे देश में राजनीतिक मिजाज को भांपने के उद्देश्य से किया गया था. इसमें देश की मौजूदा स्थिति में सोशल मीडिया और स्मार्टफोन का लोगों पर प्रभाव का आकलन करना भी शामिल था.

न्यूज 18  के अनुसार मंगलवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि सोशल मीडिया का प्रयोग नहीं करने वाले 17 फीसदी लोगों  की राय थी कि भारत सिर्फ हिंदुओं का है. सोशल मीडिया का यूज नहीं करने वाले 73 फीसदी लोगों ने कहा कि भारत सभी धर्मों के लोगों का हैं.  वहीं सोशल मीडिया पर भी 75 फीसदी लोगों ने भी यही बात कही.

इसे भी पढ़ेंः  चेन्नई  : ऑफिस में पानी नहीं है, घर पर रह कर काम करें, आईटी कंपनियों का अपने कर्मचारियों से आग्रह

सोशल मीडिया लोगों को अपनी राय बनाने में प्रभावित करता है

सर्वे  में  यह भी सामने आया कि सोशल मीडिया लोगों को अपनी राय बनाने  में प्रभावित करता है. सीएसडीएस की तरफ से अप्रैल से मई के बीच देश के 26 राज्यों की 211 संसदीय क्षेत्रों में फील्डवर्क किया गया. सर्वे के दौरान कुल 24,236 वोटरों से उनकी राय जानी गयी इसमें वाट्सएप, इंस्टाग्राम यूजर्स की राय को भी शामिल किया गया.

सोशल मीडिया का अधिक प्रयोग करने वाले 28 फीसदी लोग मानते हैं कि मुस्लिम बहुत राष्ट्रवादी होते हैं.  जबकि इसकी कैटेगरी में 15 फीसदी लोग बिल्कुल उलट राय रखते हैं.  सोशल मीडिया का प्रयोग नहीं करने वाले 21 फीसदी लोग मानते हैं कि मुस्लिम बहुत राष्ट्रवादी होते है. 12 प्रतिशत लोग इसके विपरीत राय रखने वाले थे.

इसे भी पढ़ेंः  टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज  : सालाना एक करोड़ से ज्यादा वेतन पाने वाले कर्मचारियों  की संख्या 100 के पार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: