DumkaJharkhand

सामाजिक एवं राष्ट्रीय मूल्यों को नहीं भूलना चाहिएः लुइस मरांडी

विज्ञापन
          भारत के इतिहास को पुर्नलेखन की आवश्यकता : कुलपति डॉ सिन्हा

Dumka : सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय में लोक मंथन कार्यक्रम बुधवार को आयोजित हुई. कार्यक्रम कांफ्रेंस हॉल में कुलपति प्रो मनोरंजन प्रसाद सिन्हा के अध्यक्षता में संपन्न हुई. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सूबे के समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी थी. मुख्य वक्ता प्रज्ञा प्रवाह के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक प्रो सदानंद उपस्थित थे. कार्यक्रम के प्रारंभ में कुलपति प्रो सिन्हा ने पुष्पगुछ एवं परांपरिक रिति-रिवाज लोटा-पानी से मंत्री का स्वागत किया. कार्यक्रम के प्रारंभ में संयोजक डॉ अजय सिन्हा ने बताया कि इस माह के प्रारंभ में लोक मंथन के तहत विभिन्न कॉलेज में लगभग 500 बच्चों ने भाग लिया. सात सितंबर को हर कॉलेज के प्रथम आए प्रतिभागियों ने विवि स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में भाग लिया. प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया. प्रतिकुलपति प्रो शर्मा ने आगतुक अतिथियों का स्वागत किया.

इसे भी पढ़ें-दीपक मारू को मिली चैंबर की बागडोर, कुणाल संभालेंगे महासचिव का पद

भारतीय जन मानस मानसिक उपनिवेश का शिकार

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि मंत्री डॉ लुईस ने कहा कि भारत के मनीषियों ने एक महान आदर्श स्थापित किया है. हमें उस विरासत को आगे बढ़ाना है. आधुनिकता को अपनाते हुए हमें अपने सामाजिक और राष्ट्रीय मूल्यों को नहीं भूलना चाहिए. मुख्य वक़्ता के रूप में बोलते हुए प्रो सदानंद ने कहा की भारतीय जनमानस मानसिक उपनिवेश का शिकार है. हमारे उच्च शिक्षा का पाठ्यक्रम भी इसका शिकार है. भारतीय संस्कृति, संस्कार, ज्ञान और अध्यात्म को छोड़ हम दूसरे का आधुनिकिकरण कर रही है. भारत के प्राचीन ग्रंथों में कई तकनीकी ज्ञान जैसे वायुयान का वर्णन है. हमें उस पर गर्व करना चाहिए.

अपने अध्यक्षीय संबोधन में कुलपति प्रो सिन्हा ने कहा की भारत के इतिहास के पुर्नलेखन की ज़रूरत है. हमें अपनी विरासत पर गर्व है. हम विश्व गुरु का दर्जा रखते थे. हमें अपने शिक्षण संस्थानों को पुनः विश्व स्तर का बनाना है. इसके लिए ज्ञान-विज्ञान में उच्च कोटि के शोध को बढ़ावा देने पर जोर दिया. उन्होंने इस दिशा में पूरे विश्वविद्यालय परिवार को अग्रसर होने की बात कही. इस अवसर पर डॉ पीके वर्मा, प्रो वाई पी राय, डा हशमत अली, डॉ पीपी सिंह, डॉ शंभु नाथ मिश्रा, डॉ स्वतंत्र सिंह, डॉ सुधांशु शेखर, डॉ रंजीत सिंह, डॉ संजीव कुमार, डॉ रंजन कुमार, डॉ निलेश कुमार, डॉ निरंजन मंडल आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें-सरकार की दमनकारी नीतियों से आदिवासी-मूलवासी युवाओं को हो रही है परेशानी : सीता सोरेन

लोक मंथन 2018 में छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया

सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय में आयोजित लोकमंथन वाद-विवाद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान साहिबगंज कॉलेज साहिबगंज की छात्रा कल्याणी कुमारी, द्वितीय स्थान पर एएन कॉलेज, दुमका के अंकित कुमार दुबे एवं तृतीय स्थान पर आरडी बाजला कॉलेज की छात्रा स्वाति सिंह रही. निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर साहिबगंज कॉलेज साहिबगंज से अनामिका कुमारी, द्वितीय स्थान पर हिन्दी विद्यापीठ, देवघर से विश्वजीत वर्मा एवं तृतीय स्थान पर पीजी वनस्पति विज्ञान से वर्षा सिंह रही.

पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान डीप्सर कॉलेज, देवघर के प्र्रथम नेहा कुमारी रही. द्वितीय स्थान पर केकेएम कॉलेज, पाकुड़ से प्राची प्रज्ञा एवं तृतीय स्थान पर पीजी गणित विभाग से अभिषेक मुखर्जी रहे. पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम डीप्सर कॉलेज, देवघर की शिवानी बर्णवाल, द्वितीय स्थान पर आरडी बाजला कॉलेज, देवघर से जूही कुमारी एवं तृतीय स्थान पर देवघर कॉलेज देवघर से सोनल वत्स रही. प्रतियोगिता में सभी प्रथम पुरस्कार पाने वाले को 3100, द्वितीय को 2100 और तृतीय को 1100 रुपए का नगद पुरस्कार का मंत्री डॉ मरांडी द्वारा प्रदान किया गया.

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: