NationalWorld

 तो 10 नवंबर को SCO शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी, जिनपिंग और इमरान होंगे आमने- सामने

CO  भारत के लिए सुरक्षा और अन्य राजनीतिक मुद्दों पर अपना ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ आतंकवाद जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखने एक महत्वपूर्ण मंच है.

NewDelhi : रूस में 10 नवंबर को पुतिन की मेजबानी में SCO शिखर सम्मेलन होने जा रहा है.  खबर है कि सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी का सामना चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से मुलाकात हो सकती है. हालांकि ये मुलाकात वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वर्चुअल ही होगी. जान लें कि SCO  भारत के लिए सुरक्षा और अन्य राजनीतिक मुद्दों पर अपना ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ आतंकवाद जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखने एक महत्वपूर्ण मंच है.

Jharkhand Rai

साथ ही भारत सभी देशों को अपनी किसी भी कनेक्टिविटी की पहल में संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने की बात भी कर सकता है. यह भी देखना दिलचस्प होगा कि 10 नवंबर के शिखर सम्मेलन में पहली बार भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग आमने-सामने होंगे.

इसे भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला से ED की पूछताछ, उमर ने केंद्र पर साधा निशाना

SCO फोरम का उपयोग सदस्य देशों द्वारा आपसी विश्वास  बनाने के लिए किया जा सकता है.

इस सप्ताह सीमा विवाद और डी-एस्केलेशन के लिए 2 देशों ने सैन्य वार्ता का एक और दौर आयोजित करने की उम्मीद की है, हालांकि पिछले कुछ महीनों में इस तरह की 7 बैठकों के बावजूद सफलता का कोई संकेत नहीं मिला है. इस बात का पुरजोर खंडन करते हुए कि यह चीन-भारतीय विवाद में मध्यस्थता करना चाह रहा है, रूस ने इस बात को बनाये रखा है कि SCO फोरम का उपयोग हमेशा सदस्य देशों द्वारा आपसी विश्वास बनाने के लिए किया जा सकता है.

Samford

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर पीएम मोदी एक फिर से सीमा पार आतंकवाद फैलाने को लेकर हमला तेज कर सकते हैं.   10 नवंबर के शिखर सम्मेलन में, मोदी अफगानिस्तान में चल रही शांति प्रक्रिया में भारत के समर्थन को भी रेखांकित करेंगे.

इसे भी पढ़ें : कृषि से जुड़े सुधार किसानों को सशक्त कर रहे हैं : PM मोदी 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: