न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

को- ऑपरेटिव क्रेडिट सोसायटी का खाता बंद होने से अब तक 1.50 करोड़ का नुकसान : अरविंद सिंह

102

Dhanbad : धनबाद कोल बोर्ड इम्प्लाइज को ऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटी लिमिटेड के सदस्यों ने शनिवार को जोरदार प्रदर्शन के साथ सहकारिता विभाग का घेराव किया. प्रदर्शन में  समिति के  सचिव कैलाश राय पर विभागीय कार्रवाई करने, पिछले छह माह से बंद खाते से लेन देन परक्रिया को चालू करने एवं समिति भंग कर अविलंब चुनाव कराये जाने की मांग की.

इसे भी पढ़ेंःमिशनरीज ऑफ चैरिटी ने डीसी से की हिनू स्थित शिशु सदन को खोलने और बच्चे लौटाने की मांग

छह महीनों से खाता से लेन देन की प्रक्रिया बंद

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे समिति के पूर्व अध्यक्ष अरविंद सिंह ने बताया कि लगातार यह दूसरी बार प्रदर्शन है. पिछले छह महीनों से खाता से लेन देन की प्रक्रिया बंद रहने सोसाइटी को अबतक डेढ़ करोड़ का नुकसान हो चूका है. खाताधारी लोन की निकासी नहीं कर पा रहे है. सदस्य भूखमरी के कागार पर आ गये हैं. दुर्गा पूजा की घड़ी नजदीक आ चुकी है. सोसाइटी के छह हजार सदस्य है. जिनमें कई ऐसे सदस्य भी है जिन्हें अपने पुत्र व पुत्री की शादी के लिए लोन चाहिए. कई को ईलाज के लिए लोन की आवश्यकता है.

इसे भी पढ़ेंःबोकारो : पेटरवार के अंबागढहा नाला पर बने कई चेक डैम बेकार

palamu_12

कैलाश राय की हठधर्मिता के कारण बनी यह स्थिति

वर्तमान सचिव की हठधर्मिता के कारण आज सदस्य नारकीय जीवन जीने को विवश है. समिति के पदाधिकारियों का तीन साल का कार्यकाल पिछले 31 मार्च को ही पूरा हो चूका है. जिसके बाद सरकार की ओर से नए सिरे से पदाधिकारियो का चुनाव करने का आदेश भी जारी हुआ. सचिव कैलाश रॉय की हठधर्मिता के कारण यह स्थिति बनी हुई है. सरकार के स्तर पर सचिव के खिलाफ कार्रवाई का आदेश आने के बावजूद स्थानीय पदाधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं.

सचिव पर कई भ्रष्‍टाचार के भी आरोप लगे है. सरकार के ऑडिट रिपोर्ट से भी इसकी पुष्टि हो चुकी है. ऐसे में अब सोमवार को डीसी से मिलकर उन्हें वस्तु स्थिति से अवगत कराया जायेगा सदस्यगण अब अनशन पर जाने के लिए बाध्य है. प्रदर्शन में सोसाइटी के अध्यक्ष विजय कुमार सिंह मौजूद थे. समिति में उपरोक्त पदों के अलावे कोषाध्‍यक्ष कृष्णा सिंह समेत आठ कार्यकारिणी सदस्य शामिल थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: