JharkhandJharkhand PoliticsLead NewsRanchi

रोजगार के लिए अब तक सरकार नहीं बना सकी रोड मैप, भाजयुमो फोड़ रहा सरकार के ‘पापों का घड़ा’

Ranchi: भारतीय जनता युवा मोर्चा शनिवार को राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ सड़कों पर उतरा. खासकर युवाओं से जुड़े सवालों को लेकर हेमंत सरकार को घेरा. राज्य के अलग अलग 100 से अधिक स्थानों पर मोर्चा की ओऱ से घड़ा फोड़ कार्यक्रम का आयोजन किया गया. बिरसा चौक, रांची में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश भी शामिल हुए.

मौके पर उन्होंने कहा कि युवाओं के लिये नौकरी की बात करने वाली सरकार लगातार उन्हें अब ठग रही है. नौकरियां देने की घोषणाओं पर अमल करने की बजाये उल्टे नौकरी कर रहे युवाओं को बेरोजगार किये जा रही है.

युवाओं के साथ ठगी का कारोबार सरकार बंद करे. मोर्चा के प्रमुख किसलय तिवारी ने लातेहार में घड़ा फोड़ कार्यक्रम में भागीदारी की. इसी तरह अलग अलग जिलों में पार्टी के प्रमुख नेता भी शरीक हुए.

advt

इसे भी पढ़ें :मंत्री पद से हटाए जाने के बाद पहली बार पटना पहुंचे रविशंकर प्रसाद, समर्थकों ने घेरा

रोड मैप का अब तक नहीं है पताः दीपक

झारखंड बीजेपी के अध्यक्ष सह राज्यसभा सदस्य दीपक प्रकाश के मुताबिक इस सरकार ने कई तरह के पाप किये हैं. उसके पापों का घड़ा भरता जा रहा है. इसी कारण उनके पापों से भरे घड़े का ‘घड़ा फोड़ कार्यक्रम’ युवाओं ने किया है. एक पाप तो यह है कि 5 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया गया था.

पर पिछले 3 माह में भी कोई रोड मैप तैयार नहीं किया गया है. इसी तरह दूसरा पाप यह कि सरकार 2021 को नियुक्ति वर्ष किये जाने की बात की थी. 6 माह के बाद भी कोई नियुक्ति नहीं हुई है.

सरकार ने नियोजन नीति को रद्द कर लाखों युवाओं के सामने प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया है. नये नियोजन के लिए 3 सदस्यीय कमिटि का गठन अभी तक नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें :कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा की जल्द हो सकती है विदाई, जाने किसे मिल सकता है मौका

23 जून, 2021 को मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव, कार्मिक सचिव, एडवोकेट जरनल के साथ बैठक कर एक माह सभी नियुक्तियों से संबंधित समस्या को दूर करने की बात कही थी. पर अब एक महीने होने को हैं, कोई सुगबुगाहट नहीं है.

युवाओं के लिये रोजगार संबंधी जटिलताओं को दूर करने के वादे को ट्वीटर में पिन कर दिया गया था. पर बाद में इसे हटा लिया गया. पंचायत सचिव अभ्यर्थी, टी.जी.टी को अब तक केवल धोखा ही इस सरकार ने दिया है.

हर पंचायत में 10 युवाओं को स्वरोजगार की बात भी धरातल पर नहीं है. ग्रेजुएट को 5000 और पोस्ट ग्रेजुएट को 7000 बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया गया पर एक को भी भत्ता प्राप्त नहीं हुआ है.

होम गार्ड के युवा सूची प्रकाशन के लिए धरना दे रहे थे. बर्बर तरीके से रात 2 बजे उन्हें पीटा गया. 14वें वित्त आयोग के तहत अनुबंध कर्मियों के नौकरी का समाप्त इस सरकार ने किया है.

इसे भी पढ़ें :बिहार IMA अध्यक्ष डॉ. पीसी सिन्हा के घर डकैती, बेटी की शादी के लिए रखे गहने उड़ाये

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: