न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अब तक आधे से भी कम लोगों ने लगाया है वाटर मीटर, निगम के अधिकारी नहीं दिख रहे गंभीर

369

Nitesh Ojha
Ranchi : रांची नगर निगम शहर में पानी चोरी रोकने को लेकर कतई गंभीर नहीं दिख रहा है. शहर में करीब 43,148 उपभोक्ताओं ने तो निगम से पानी का कनेक्शन ले लिया है, लेकिन आज भी करीब 38 प्रतिशत उपभोक्ताओं (16,550) ने ही अपने घरों में वाटर मीटर लगाया है. पिछले साल नवंबर में निगम बोर्ड की बैठक में एक प्रस्ताव भी लाया गया था कि वाटर मीटर नहीं लगानेवाले उपभोक्ताओं के घरों में जाकर ऑन द स्पॉट जुर्माना लिया जायेगा. लेकिन, अब भी ऐसे लोगों से निगम केवल फिक्स चार्ज सहित कुछ प्रतिशत राशि ही जुर्माना के रूप में ले रहा है. सबसे आश्चर्य की बात यह है कि इसपर आज भी निगम के अधिकारी गंभीर नहीं दिखते हैं.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- अंतरराष्ट्रीय मानव तस्कर गिरोह से जुड़े हो सकते हैं मिशनरीज ऑफ चैरिटी के तार, ‘निर्मल हृदय’ में…

कुल 26,598 उपभोक्ताओं ने नहीं लगाया है वाटर मीटर

प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक शहर के कुल 43,148 उपभोक्ताओं ने वाटर कनेक्शन निगम से लिया है. इनमें से कुल 16,550 उपभोक्ताओं ने ही अपने घरों में वाटर मीटर लगाया हुआ है, जबकि 26,598 लोगों ने वाटर मीटर नहीं लगाया है. इस तरह कुल उपभोक्ताओं के 38 प्रतिशत लोगों ने ही वाटर मीटर लगाया हुआ है.

ऑन द स्पॉट दो हजार रुपये जुर्माना लेने का आया था प्रस्ताव

बता दें कि पिछले साल नवंबर में निगम बोर्ड की हुई बैठक में प्रस्ताव लाया गया था कि रांची नगर निगम की टीम वाटर कनेक्शन लेनेवाले उपभोक्ताओं के घर जाकर यह जांच करेगी कि वहां वाटर मीटर लगा है या नहीं. जिन घरों में वाटर कनेक्शन का मीटर नहीं लगा होगा, उन्हें ऑन द स्पॉट दो हजार रुपये का जुर्माना ठोका जायेगा. साथ ही, मीटर इंस्टॉल करने का भी जुर्माना वसूला जायेगा. इसके लिए निगम ने एक प्रस्ताव भी तैयार किया था. हालांकि, उस दौरान विभिन्न पार्षदों ने इसपर कुछ दिन और समय दिये जाने की मांग की थी. इसी तरह कुछ माह पहले भी बोर्ड की बैठक में डिप्टी मेयर ने वाटर मीटर नहीं लगाने पर नाराजगी जतायी थी. इसके बावजूद कई माह बीतने के बाद भी निगम द्वारा ऐसे उपभोक्ताओं से केवल फिक्स चार्ज ही लिया जा रहा है.

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

इसे भी पढ़ें- कांके डैम पार्क : एक महीने से बंद है गेट, मॉर्निंग वॉक करनेवालों ने सीएम को लिखा लेटर, मंत्री सीपी…

स्क्वॉयर मीटर के हिसाब से लिया जाता है फिक्स चार्ज

निगम के जल बोर्ड से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि अभी तक उनके समक्ष ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं आया है, जिसमें वाटर कनेक्शन लेने के बाद भी मीटर नहीं लगानेवालों से ऑन द स्पॉट फिक्स चार्च वसूला जाये. इनके मुताबिक, अभी तक निगम केवल स्क्वॉयर मीटर के हिसाब से ही जुर्माना ले रहा है. 0 से 100 स्क्वॉयर मीटर वालों से 200 रुपये, 101 से 200 स्क्वॉयर मीटर वालों से 300 रुपये, 201 से 400 स्क्वॉयर मीटर वालों से 500 रुपये और 400 स्क्वॉयर मीटर वालों से 750 रुपये जुर्माना वसूला जा रहा है. वहीं, इसपर 10 प्रतिशत अतिरिक्त जुर्माना भी पेनाल्टी के रूप में लिया जा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: