JharkhandMain SliderRanchi

जेपीएससी पर अब तक 33 करोड़ खर्च, फिर भी परिणाम गड़बड़झाला

नवंबर में जेपीएसी अध्यक्ष का भी कार्यकाल हो जायेगा पूरा, नहीं करा पाये परीक्षा की प्रक्रिया पूरी

Ranchi : आरोपों और विवादों से झारखंड लोक सेवा आयोग का गहरा नाता रहा है. जेपीएससी पर 33 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं. लेकिन एक भी रिजल्ट पाक-साफ नहीं निकला. 1095 दिन गुजर जाने के बाद भी छठी जेपीएससी परीक्षा की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है. आयोग के अध्यक्ष के विद्यासागर का कार्यकाल भी नवंबर में समाप्त हो जायेगा. फिर नये अध्यक्ष की तलाश शुरू हो जायेगी. पांचवी जेपीएससी की परीक्षा प्रक्रिया पूरी होने में लगभग डेढ़ साल का समय लगा था. 18 साल में जेपीएससी सिर्फ पांच परीक्षा ही ले पाया है.

इसे भी पढ़ें- पलामू: दो राज्यों की पुलिस का छापा, लोडेड पिस्टल के साथ टीपीसी समर्थक गिरफ्तार 

17 अगस्त 2015 को जारी हुआ था छठी जेपीएससी का विज्ञापन

जेपीएससी ने 17 अगस्त 2015 को छठी संयुक्त असैनिक सेवा प्रतियोगिता (प्रारंभिक) परीक्षा का विज्ञापन जारी किया था. फिर इसे वापस लेकर 30 अक्तूबर 2015 को फिर से 326 पदों के लिये विज्ञापन जारी किया. 18 दिसंबर 2016 को पीटी परीक्षा हुयी। 23 फरवरी 2017 को पीटी का रिजल्ट जारी किया गया. इसमें कुल 5,138 अभ्यर्थी सफल रहे. फिर 11 अगस्त 2017 को पीटी का संशोधित रिजल्ट निकला. इसमें 965 और अभ्यर्थियों को जोड़ा गया. इस हिसाब से कुल 6,103 अभ्यर्थी सफल रहे. फिर तीसरी बार छह अगस्त 2018 को संशोधित रिजल्ट जारी किया गया. इसमें 34,634 अभ्यर्थी सफल रहे.

इसे भी पढ़ें-  पलामू : बस और ट्रक में जोरदार टक्कर, ट्रक चालक की मौत, आधा दर्जन यात्री घायल

जेपीएससी का विवादों से रहा है गहरा नाता

जेपीएससी देश का पहला ऐसा आयोग है जिसके अध्यक्ष पद पर रहते ही कार्रवाई हुई. पहली सिविल सेवा, द्वितीय सिविल सेवा, व्याख्यता, बाजार पर्यवेक्षक, सहकारिता और जेट परीक्षा विवादों के घेरे में रही. काफी हंगामा के बाद निगरानी जांच का आदेश दिया गया. द्वितीय सिविल सेवा से चयनित 166 अफसरों को कार्यमुक्त भी किया गया. प्रथम सीमित प्रतियोगिता परीक्षा रद्द करनी पड़ी. जेट परीक्षा का रिकॉर्ड भी गायब किया गया. इन सभी परीक्षाओं में अपने लोगों को लाभ पहुंचाने का आरोप है.

इसे भी पढ़ें- मृत्यु प्रमाणपत्र के लिए हिंदी में आवेदन नहीं लेता RMC, यह राष्ट्रभाषा का अपमान है, हिंदी में भी लें…

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

 

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: