न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ट्रैफिक के बढ़ते लोड से कराह रहीं राजधानी की छोटी सड़कें

383

Ranchi : रांची की छोटी सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ता जा रहा है, लेकिन उसके अनुसार सड़क की बदहाल स्थिति को सुधारने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है. इसका परिणाम ऐसा हुआ है कि शहर की मुख्य सड़क से जोड़नेवाली छोटी सड़कों की भी हालत बदतर होती जा रही है. वाहनों के बढ़ते दबाव के कारण छोटी सड़कों पर जाम लग जाता है और वहां रहनेवाले लोगों को जाम के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता है.

इसे भी पढ़ें- बारिश ने धो डाला ‘विकास’ का मेकअप, राजधानी की सड़कों पर पुता कीचड़, हुआ जलजमाव

इन छोटी सड़कों पर रहता है ट्रैफिक का दबाव

रातू रोड दुर्गा मंदिर से हॉट लिप्स चौक जानेवाली सड़क, हरमू रोड से पहाड़ी मंदिर होते हुए रातू रोड जानेवाली सड़क, सर्जना चौक से बड़ा तालाब जानेवाली सड़क, करमटोली से जेल मोड़ जानेवाली सड़क, सहजानंद चौक से कडरू ओवरब्रिज जानेवाली सड़क, स्टेट लाइब्रेरी से नगर निगम जानेवाली सड़क समेत अन्य छोटी सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- राजधानी में निगम ने फिर चलाया अतिक्रमण हटाओ अभियान, जब्त किये सामान

बरसात में पैदल चलना होता है मुश्किल

बरसात का मौसम के आते ही छोटी सड़कों वाले इलाकों में रहनेवाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. बारिश होने के कारण सड़क पर कीचड़ हो जाने से लोगों को घर जाने में परेशानी का सामना करना पड़ता है. उसपर इन सड़कों पर ट्रैफिक का लोड बढ़ने से परेशानी और भी ज्यादा बढ़ जाती है.

इसे भी पढ़ें- हरमू नदी के किनारे को हरा-भरा कर नहीं सकी, अब नदियों के किनारे पेड़ लगाने चली झारखंड सरकार

वसूली से बचने के लिए वाहन चालक छोटी सड़क से करते हैं आना-जाना

ट्रैफिक पुलिस द्वारा शहर में नो एंट्री का अक्सर फायदा उठाकर चारपहिया वाहनों से बिना गलती के फाइन वसूला जाता है, जिससे बचने के लिए 407 ट्रक और मालवाहक छोटी सड़क से आना-जाना करते हैं. इसकी वजह से इन छोटी सड़कों पर ट्रैफिक का लोड बढ़ जाता है.

सरकार ने नहीं बताया शहर को जाम मुक्त करने के लिए क्या कदम उठाये

झारखंड हाई कोर्ट में दाखिल जनहित याचिका पर सरकार की ओर से समय पर शपथपत्र दाखिल नहीं किये जाने पर हाई कोर्ट ने नाराजगी जतायी है. कोर्ट ने सरकार को यह बताने को कहा था कि रांची को जाम से निजात दिलाने के लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं, लेकिन सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: